नई दिल्लीः– कोरोना वायरस से जंग के बीच अच्छी खबर यह है कि पुणे में वैक्सीन का उत्पादन शुरू हो गया है। ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी की तरफ से तैयार वैक्सीन के लिए ब्रिटिशस्वीडिश फार्मास्यूटिकल कम्पनी आस्ट्राजेनेका ने भारत से हाथ मिलाया है। आस्ट्राजेनेका ने पुणे स्थित सीरम इंस्टीच्यूट के साथ मिलकर वैक्सीन निर्माण शुरू कर दिया है। ये दोनों मिलकर 1 अरब कोरोना वैक्सीन को भारत सहित कम आय वाले देशों में पहंचाएंगे। ब्रिटिश दवा निर्माता कम्पनी का नई वैक्सीन के निर्माण और डिस्ट्रीब्यूशन में मदद देने वाली संस्था सेपी और गवी के साथ 750 मिलियन डालर का समझौता हुआ है। इसके माध्यम से संभावित वैक्सीन की 30 करोड़ डोज की खरीद और वितरण किया जाएगा। वैक्सीन की डिलीवरी दिसम्बर 2020 तक शुरू हो सकती है। आप को बता दें कि वैक्सीन बनाने की रेस में ऑक्सफोर्ड युनिवर्सिटी सबसे आगे है। वहीं पुणे स्थित सीरम इंस्टीच्यूट यहां विकसित होने वाली वैक्सीन के साथ काम कर रहा है। हाल ही में ऑक्सफोर्ड यूनिवर्सिटी ने इस वैक्सीन के ट्रायल के लिए सबसे पहले 18 से 55 साल के लोगों को चुना है। पहला ट्रायल सफल होने के बाद दसरे और तीसरे चरण का ट्रायल शुरू किया गया है। सभी चरणों को मिलाकर करीब 10 हजार से अधिक लोगों पर ट्रायल होना है।

Jalandhar News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *