जालंधर(विनोद बिंटा)–महानगर में लंबे समय से लॉटरी की आड़ में सट्टेबाजी का धंधा चलता था। पंजाब सरकार के आदेशों के बाद महानगर में जितनी भी लॉटरी की दुकानें थी, उन्हें बंद करवा दिया था। जिसके चलते वैस्ट हलके में 40 के करीब लॉटरी की दुकानें चलती थी और इन सभी दुकानों पर कंप्यूटर लॉटरी की आड़ में सट्टेबाजी का धंधा राजनीतिक संरक्षण और पुलिस की कुछ काली भेड़ों की मिली भगत से चल रहा था।सरकार के सख्त आदेशों के बाद सभी का धंधा बंद हो गया, अब यह सट्टा, माफिया के लोग अपनी दुकानों के ताले खोलने की तैयारी में जुटे हुए है। इन सभी की एक गुप्त स्थान पर बैठक हो गई है। इस बैठक में यह तह हुआ है कि वह सभी सट्टे के धंधे में कमाई गई रकम का बहुत-सा हिस्सा राजनीतिक लोगों तक पहुचाएंगे। यह हिस्सा देने के बाद सट्टेबाजों की दुकानों के ताले खुलेंगे और इन लोगों को पुलिस का डर भी नही होगा। आज के लिए इतना ही जल्द वी.बी न्यूज़24 इस मामले से जुड़ा हुआ खुलासा करेगा।

Jalandhar News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *