जालंधर(विनोद बिंटा):-देहात पुलिस ने एक ऐसे गिरोह का पर्दाफाश किया है। जिसने दो दर्जन के करीब अपराधिक वारदातों को अंजाम दिया है। आरोपियों को पुलिस ने सीसीटीवी कैमरे की फुटेज के अधार पर काबू किया है। यह गिरोह के एक सदस्य ने ट्रेनों में सफर करने वाले लोगों को नशीला पर्दाथ देकर निशाना बनाया था।  टीम  ने निर्मल कुटिया गुरुद्वारा मेन रोड आदमपुर के गद्दीनशीन महंत तरसेम सिंह चेला संत संतोख सिंह से 8 जून को हुई लूट की वारदात को ट्रेस कर लिया है। प्रेस वार्ता के दौरान एसएसपी नवजोत माहल ने बताया कि इस लूट को वारदात देने वाले तीनो आरोपियो को 12 बोर राइफल, 50 जिंदा कारतूस, स्विफ्ट गाड़ी (PB08BH0532), सिम कार्ड और 19,851/- रुपए की नकदी सहित गिरफ्तार किया है। आरोपियो की पहचान प्रदीप कुमार उर्फ बजरंग पुत्र लक्षमण दास वासी फतेहपुर पंडोरी हरियाणा, गुरसेवक उर्फ रवि पुत्र कुलदीप सिंह वासी बिलासपुर तथा जगबीर सिंह उर्फ अतुल कुमार पुत्र संतोख सिंह वासी अमृतसर के रूप में हुई है। देहात पुलिस के सी.आई.ए स्टाफ और आदमपुर की पुलिस ने संयुक्त टीम बना कर सीसीटीवी फुटेज के आधार पर टेक्निकल टीम की मदद से आरोपी प्रदीप कुमार के घर रेड किया। जहाँ तीनो आरोपी मौजूद थे। जांच के दौरान आरोपियो ने पुलिस को बताया कि गुरसेवक सिंह 2013-14 में महंत तरसेम सिंह से मिला था और कुटिया में रहकर बतौर सेवादार सेवा की थी। जिसने वापस जा कर अपने साथियो संग मिल कर जल्दी अमीर होने के लालच में इस वारदात को अंजाम दिया था। एसएसपी माहल ने बताया कि लूट की घटना से पहले आरोपी जगबीर ने आनंदपुर में एक व्यक्ति को अगवा कर उसका कत्ल कर दिया था जिसको उसने जांच में कबूल लिया है। पुलिस का दावा है कि आरोपियो से लूटपाट की ऐसी अन्य घटनायों के खुलासे भी हो सकते है। गिरफ्तार किेए गए आरोपियों के खिलाफ कई थानों में अपाधिक मामले दर्ज है।

Stock Market Updates

Jalandhar News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *