जालंधर(विनोद बिंटा)- फुटबॉल चौक के निकट अरमान अस्पताल के डॉक्टरों के खिलाफ एक मरीज के परिवार वालों और उसके रिश्तेदारों ने इकट्ठे होकर धरना प्रदर्शन किया उनका आरोप है कि अस्पताल के डॉक्टरों ने लाखों रुपए लेकर बेटे का इलाज सही ढंग से नहीं किया और उसे इस हालत में दूसरे अस्पताल ले जाने को कहां परिवारिक मेंबरों कुलवंत कौर सुखविंदर सिंह रेशम सिंह लखबीर सिंह विजय का आरोप है कि 12 अप्रैल को जगदीश उर्फ राजन पुत्र सतपाल गांव मल्ली वाल मलसिया का एक्सीडेंट हो गया था जिसके सिर में गंभीर चोटे आई थी और उसका इलाज अरमान अस्पताल में चल रहा था अस्पताल के डॉक्टरों ने उनसे 12 लाख रुपए के करीब रुपए ले लिए हैं और कुछ दिन पहले उन्होंने राजन की हालत ठीक नहीं है यह कह कर उसे दूसरे हस्पताल में ले जाने को कहा उन्होंने इसे निजी अस्पताल में लेकर गए वहां उन्होंने उसे भर्ती नहीं किया और यह कहा कि उसकी हालत ठीक नहीं है उसे घर ले जाओ अब प्रदर्शनकारियों की मांग है कि उनके बेटे को दोबारा अस्पताल में दाखिल किया जाए बेटे की हालत नाजुक है और अस्पताल वाले उन्हें इलाज के लिए भर्ती नहीं कर रहे हैं प्रदर्शनकारियों की यह भी मांग है कि या तो जो डॉक्टरों ने उनसे लाखों रुपए लिए हैं वह वापस दे या फिर बेटे को द्वारा हस्पताल में भर्ती करके उसका सही ढंग से इलाज किया जाए समाचार लिखे जाने तक परिवारिक मेंबरों का धरना जारी था उधर डॉक्टर राजिंदर छाबड़ा का कहना है कि उन्होंने राजन के इलाज में कोई भी कोताही नहीं बरती है उन्होंने अपनी तरफ से उसका इलाज बिल्कुल सही ढंग से किया है राजन के परिवार वाले 12 जून को मरीज की छुट्टी करवाकर ले गए थे आज 4 दिन बाद फिर वापस आए हैं जब राजन उनके हॉस्पिटल से गया था उसकी हालत ठीक थी वह वेंटिलेटर पर भी नहीं था आज 4 दिन के बाद उसे दोबारा लेकर आए हैं उसकी हालत नाजुक बनी हुई है उन्होंने उसे डीएमसी अस्पताल में ले जाने को कहां है राजन के परिवार वाले उन पर जो भी आरोप लगा रहे हैं वह निराधार है उनकी तरफ से राजन का इलाज बिल्कुल सही ढंग से हुआ था

Stock Market Updates

Jalandhar News

Happy Independence day

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *