नई दिल्ली : चीन से निबटने के मुद्दे पर शुक्रवार को बुलाई गई सर्वदलीय बैठक के बाद शनिवार को भारत सरकार का आधिकारिक बयान आया है। प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के सर्वदलीय बैठक में दिए गए वक्तव्य पर स्पष्टीकरण देते हुए प्रधानमंत्री कार्यालय ने आज कहा कि कुछ जगह पर प्रधानमंत्री के वक्तव्य की शरारतपूर्ण व्याख्या की गई है जबकि प्रधानमंत्री ने साफ शब्दों में कहा था कि भारत वास्तविक नियंत्रण रेखा के अतिक्रमण की किसी भी कोशिश का करारा जवाब देगा। सरकार ने स्पष्ट रूप से कहा है कि एलएसी पर किसी भी कीमत पर सरकार एकपक्षीय बदलाव की अनुमति नहीं देगी। इसके साथ ही भारत की संप्रभुता और अखंडता की रक्षा के लिए भारतीय सेना हर जरूरी कदम उठाएगी। प्रधानमंत्री कार्यालय के मुताबिक सेना का मनोबल गिराने के लिए पीएम मोदी के बयान पर विवाद खड़ा किया गया है। सर्वदलीय बैठक को यह भी जानकारी दी गई थी कि इस बार चीनी सेना वास्तविक नियंत्रण रेखा पर बड़ी संख्या में आई है और भारत ने भी इसके अनुरूप कदम उठाया है।

Stock Market Updates

Jalandhar News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *