देश में कोविड-19 की दवा Remdesivir की सप्लाई शुरू, महाराष्ट्र, दिल्ली सहित पांच राज्यों को भेजी गई

रेमडेसिवीर दवा का इस्तेमाल सिर्फ अस्पतालों में भर्ती मरीजों पर किया जाएगा और इसकी बिक्री सिर्फ अस्पताल चैनल के जरिए ही की जाएगी.

नई दिल्ली: हैदराबाद की ड्रगमेकर कंपनी हेटरो ने रेमडेसिवीर दवा की सप्लाई शुरू कर दी है. पिछले हफ्ते ही अमेरिकी कंपनी से भारत की दो कंपनियों (हेटरो और सिप्ला) को रेमडेसिवीर दवा का लाइसेंस मिला है. हेटरो ने पहले बैच में दिल्ली, महाराष्ट्र, गुजरात, तमिलनाडु और तेलंगाना में रेमडेसिवीर दवा की 20 हजार शीशियां भेज दी हैं.

हेटरो की दवा बाजार में Covifor नाम से उपलब्ध होगी, जबकि दूसरी भारतीय कंपनी सिप्ला इस दवा को Cipremi नाम से बेचेगी. हेटेरो ने कहा कि दवा की 100 मिलीग्राम की शीशी की कीमत 5,400 रुपये है. कंपनी ने तीन-चार हफ्तों में दवा की एक लाख शीशियों के उत्पादन करने का लक्ष्य रखा है. दवा के अगले बैच को कोलकाता, इंदौर, भोपाल, लखनऊ, पटना, भुवनेश्वर, रांची, विजयवाड़ा, कोच्चि, त्रिवेंद्रम और गोवा भेजा जाएगा.

बाजार में नहीं बेची जाएगी रेमडेसिवीर
ये दवा सिर्फ अस्पतालों और सरकार के माध्यम से उपलब्ध होगी. खुदरा बिक्री चैनल के जरिये यह दवा उपलब्ध नहीं होगी. हेटरो ग्रुप ऑफ कंपनीज के प्रबंध निदेशक वामसी कृष्ण बांदी ने कहा, ‘हम बाजार में इस दवा को डंप नहीं करेंगे. हम मरीजों की संख्या के आधार पर इसकी आपूर्ति सुनिश्चित करेंगे. राज्य सरकारों, मेडिकल कॉलेजों और निजी अस्पतालों ने रेमडेसिवीर की खरीदारी में काफी दिलचस्पी दिखाई है.”

हेटरो भारत के अलावा एशिया और अफ्रीकी देशों को भी दवा का निर्यात कर रही है. कंपनी को भारतीय बाजार में इस दवा के उत्पादन और बिक्री के लिए भारतीय औषधि महानियंत्रक (डीसीजीआई) से मंजूरी मिल गई है.

महाराष्ट्र, दिल्ली और तमिलनाडु में तेजी से बढ़ कोरोना मामले
महाराष्ट्र, दिल्ली और तमिलनाडु में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़ रहे हैं. देश में पिछले 24 घंटे में जितने नए मामले दर्ज हुए हैं उनमें से 62 फीसदी इन तीन राज्यों से हैं. राहत की बात ये है कि कोरोना से ठीक होने वाले रोगियों की संख्या बढ़ी है. वर्तमान में 1 लाख 86 हजार 514 एक्टिव केस की तुलना में ठीक हुए 2 लाख 71 हजार 696 मरीजों की संख्या अधिक है. अब रिकवरी रेट लगभग 57.42 प्रतिशत हो गया है. महाराष्ट्र अब भी 1,42,900 मामलों और 6,739 मौतों के साथ सबसे खराब स्थिति में हैं. 24 घंटों में यहां 208 मौतें हुईं हैं और 3,890 मामले दर्ज हुए हैं.

दिल्ली में अब तक कुल 70,390 मामले आए और 2,365 मौतें हुईं, तमिलनाडु में कुल 67,468 मामले और 866 मौतें हुई हैं. पिछले 24 घंटों में दिल्ली में 64 मौतों के साथ 3,788 मामले आए. वहीं तमिलनाडु में 33 मौतों के साथ 2,865 मामले दर्ज हुए.

Related posts

Leave a Comment