गलत साबित हुए गर्मी में कोरोना वायरस के कमजोर होने के सारे अनुमान…

नई दिल्ली:- कोरोना वायरस का कहर दुनियाभर के देशों में तेजी से फैल रहा है। दुनियाभर में इसका प्रकोप बढ़ता ही जा रहा है। दुनियाभर में कोरोना संक्रमितों की संख्या बढ़कर 1 करोड़ को पार कर गई है जबकि इस जानलेवा वायरस की चपेट में आने से 5 लाख से ज्यादा लोगों की मौत हो चुकी है। दरअसल, गर्मी में कोरोना वायरस कमजोर होने के सारे अनुमान गलत साबित हुए और जून में हर दिन सवा लाख से ज्यादा मरीज मिल रहे हैं। कोरोना के 67 फीसदी यानि दो तिहाई से ज्यादा मरीज तो सिर्फ मई और जून में सामने आए। मई में रोज औसतन करीब एक लाख और जून में रोज औसतन एक लाख 35 हजार मरीज मिल रहे हैं। वहीं, 90 फीसदी कोरोना के केस अप्रैल-मई-जून में सामने आए हैं।कोरोना ने मार्च में सबसे ज्यादा एक लाख 90 हजार से ज्यादा जानें ली। उस वक्त इटली, फ्रांस, स्पेन में महामारी चरम पर थी और अमेरिका में उसका कहर बरपाना शुरू हो गया था।

Related posts

Leave a Comment