व्हाइट हाउस कोरोना वायरस कार्यबल के सदस्य एडमिरल ब्रेट गिरोयर ने सार्वजनिक रूप से मास्क पहनने को “नितांत अनिवार्य” बताया, जिसका कुछ अमेरिकी राज्यों में विरोध किया जा रहा है.

सेंटपीटर्सबर्ग: अमेरिका कोरोना वायरस संक्रमण से दुनिया में सबसे बुरी तरह प्रभावित है और सोमवार को फ्लोरिडा ने देश में एक दिन में सबसे ज्यादा संक्रमण के मामले सामने आने का रिकॉर्ड बनाया. इस बीच विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) के दो विशेषज्ञ चीन में महामारी की उत्पत्ति का पता लगाने के लिए भेजे गए मिशन का हिस्सा बने हैं. इस विषाणु का सबसे पहले पिछले साल मध्य चीन के वुहान शहर में पता चला था. चीन शुरू में जांच की अनुमति देने को तैयार नहीं था लेकिन कई देशों द्वारा डब्ल्यूएचओ से व्यापक जांच कराने की मांग के बाद उसने इजाजत दे दी.

अमेरिका के जॉन्स हॉपकिंस विश्वविद्यालय के आंकड़ों के असोसिएटेड प्रेस द्वारा हाल में किए गए विश्लेषण के मुताबिक अमेरिका में वायरस से मौत का आंकड़ा बढ़ रहा है खासकर दक्षिण और पश्चिम में. यह अप्रैल में महामारी के शीर्ष पर रहने के दौरान हो रही मौत के आंकड़ों से काफी कम है.

फ्लोरिडा विश्वविद्यालय की महामारी रोग विशेषज्ञ डॉ. सिंडी प्रिन्स ने कहा, “मुझे वास्तव में लगता है कि हम इसे नियंत्रित कर सकते हैं और यह मानवीय तत्व है जो सबसे ज्यादा जटिल है. यह हमारे देश का प्रयास होना चाहिए. जब हम संकट में हों तो हमें साथ मिलकर कोशिश करनी चाहिए और हम निश्चित रूप से यह नहीं कर रहे हैं.”

मास्क पहनना अनिवार्य
व्हाइट हाउस कोरोना वायरस कार्यबल के सदस्य एडमिरल ब्रेट गिरोयर ने सार्वजनिक रूप से मास्क पहनने को “नितांत अनिवार्य” बताया, जिसका कुछ अमेरिकी राज्यों में विरोध किया जा रहा है. स्वास्थ्य एवं मानव सेवा विभाग के सहायक मंत्री गिरोयर ने ‘एबीसी’ को बताया, “अगर हम यह नहीं करते हैं तो हम वायरस पर नियंत्रण नहीं कर पाएंगे.” राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने भी शनिवार को पहली बार सार्वजनिक रूप से मास्क पहना, डेमोक्रेट नेता नैंसी पेलोसी ने कहा कि रविवार को दिखा कि उन्होंने (ट्रंप ने) अपनी आदत को बदल लिया है.

फ्लोरिडा में रविवार को जारी स्वास्थ्य विभाग के आंकड़ों के मुताबिक शनिवार को 15,299 और लोग संक्रमित पाए गए जबकि राज्य में कुल मामलों की संख्या 2,69,811 हो गई है जबकि 45 और लोगों ने इस महामारी से अपनी जान गंवा दी. इससे पहले एक दिन में सबसे ज्यादा मामलों का रिकॉर्ड कैलीफोर्निया का था जहां बुधवार को 11,694 मामले सामने आए थे.

शोधकर्ताओं ने आशंका जताई है कि अमेरिका में कम से कम अगले कुछ हफ्तों तक मरने वालों की संख्या बढ़ेगी लेकिन कुछ को लगता है कि इसमें उस तरह से बढ़ोतरी नहीं होगी जैसी पहले देखने को मिल रही थी और इसके पीछे ज्यादा जांच होने समेत कई कारक हैं.

कहां से आया वायरस, खोज जारी
चीन में डब्ल्यूएचओ विशेषज्ञों के संदर्भ में वहां के विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता हुआ चुनयिंग ने कहा कि वे चीनी वैज्ञानिकों और चिकित्सा विशेषज्ञों के साथ “कोरोना वायरस की उत्पत्ति के मुद्दे पर वैज्ञानिक सहयोग करेंगे.” चीन पहले दलील दे चुका है कि हो सकता है वायरस की उत्पत्ति चीन के बाहर हुई हो.

विश्व के अन्य हिस्सों में विशेषकर भारत, दक्षिण अफ्रीका और ब्राजील में संक्रमण के मामलों में नाटकीय रूप से वृद्धि दर्ज की गयी. ब्राजील के राष्ट्रपति में संक्रमण की पुष्टि हुई है. भारत में अमेरिका और ब्राजील के बाद सबसे अधिक पुष्ट मामले हैं. भारत में सोमवार को 28701 मामलों की वृद्धि हुई.

Stock Market Updates

Jalandhar News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *