जालंधर(विनोद बिंटा)- बस्ती दानिशमंदा जिस जमीन पर सरकारी स्कूल बनाने का दावा किया जा रहा है उस जमीन को लेकर एक और नया मोड़ सामने आया है जिसमें कश्यप परिवार ने यह दावा किया है कि जब से वह पाकिस्तान से आए हैं तब से उनका कबीला इस जमीन की रखवाली करता रहा है केवल किशन कस्तूरी लाल बनारसी लाल सुरिंदर शिंदा तुषार चीकू गौरव ने जानकारी देते हुए बताया कि वह 12 अगस्त 1947 में पाकिस्तान से यहां पर आकर बसे थे उसी समय से उन्हें यह सारी जमीन मिली थी पहले उनके बाप दादा और अब उनका सारा कबीला इसी जमीन में खेती-बाड़ी करता था और यह जमीन उन्हें उस समय से मिली है लेकिन राजनीति रंजिश के चलते इस जमीन पर सरकारी स्कूल बनाने का दावा किया जा रहा है केवल किशन कस्तूरी लाल ने यह भी बताया कि इस जमीन को लेकर उनका कोर्ट में केस चल रहा है एक केस उन्होंने नगर निगम के खिलाफ कर रखा है जिस की तिथि 5 अगस्त और एक केस उन्होंने सेंट्रल गवर्नमेंट के खिलाफ कर रखा है जिस की तिथि 26 अगस्त 2020 पड़ी है अदालत में केस चलने के बावजूद भी कश्यप समाज के साथ पंजाब सरकार धक्केशाही कर रहा है हालाकी कश्यप समाज का सहयोग कांग्रेस पार्टी को हर तरफ से दिया जाता है लेकिन इसके बावजूद भी इलाका नेता राजनीति रंजिश के चलते इस जमीन पर स्कूल बनवाने का दावा कर रहा है पाकिस्तान से उजड़ कर उनका परिवार यहां पर बसा अब एक पाकिस्तान जैसा दौर उन्हें अब फिर देखने को मिल रहा है पीढ़ी व पीढ़ी इस परिवार को एक बार फिर राजनीति रंजिश के चलते उजाड़ा जा रहा है उन्होंने पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह से मांग की है कि उनकी सुनवाई भी की जाए पाकिस्तान से आकर वह यहां बसे थे और बाप दादा ने इस जमीन की रखवाली करके अपने परिवार को सौंपी थी लेकिन अब उन्हें एक बार फिर उजाड़ा जा रहा है उनकी सीएम से मांग है कि उन्हें और उसके परिवार को उजाड़ा ना जाए उधर रिटायर फौजी दर्शन लाल ने बताया कि प्रशासन की ओर से जमीन मापने के लिए आई टीम उसे यह कह कर गई है कि उसका मकान भी स्कूल बनाने वाली जमीन में आ रहा है उस की सारी उम्र की कमाई इस मकान पर लगी है और सरकारी मुलाजिम आकर उसे यह कहकर यह है कि तुम्हारे मकान की जमीन भी स्कूल बनने वाली जमीन की तरफ आ रही है

Stock Market Updates

Jalandhar News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *