फर्जी फॉलोवर्स बढ़ाने के मामले में मुंबई पुलिस ने रैपर बादशाह पर शिकंजा कस लिया है. पुलिस दावा किया कि बादशाह ने 72 लाख रुपए में 7.2 फर्जी व्यू खरीदे. लेकिन बादशाह ने इसे खारिज कर दिया और कहा कि उन्होंने ऐसा नहीं किया.

फर्जी फॉलोवर्स मामले में मुंबई पुलिस का कहना है कि रैपर बादशाह ने अपने एक म्यूजिक वीडियो के अतिरिक्त व्यू के लिए 72 लाख रुपए दिए Ls. इस वीडियो ने व्यूवरशिप के कई रिकॉर्ड तोड़े थे. रैपर से एक रैकेट के संबंध में पूछताछ की जा रही है जो सोशल मीडिया प्रभावितों को फर्जी फॉलोवर्स और व्यूज को बेचते हैं. हालांकि बादशाह ने इस मामले में किसी भी तरीके के गलत काम से इनकार किया है.

अधिकारियों का दावा है कि सवालों के दौरान, बादशाह ने इस बात को कबूला है कि उन्होंने 7.2 करोड़ व्यूज को 72 लाख रुपए में खरीदा है. यूट्यूब पर पहले 24 घंटे में इतना ज्यादा देखे जाने वाले इस सॉन्ग ने वर्ल्ड रिकॉर्ड बनाया है. उन्होंने दावा किया है कि ‘पागल है’ म्यूजिक वीडियो को रिलीज के पहले दिन में 75 मिलियन बार देखा गया था, इस म्यूजिक वीडियो ने टेलर स्विफ्ट और कोरियन ब्वॉय बैंड बीटीएस के पिछले रिकॉर्ड को पछाड़ दिया है. हालांकि इस दावे को भी गूगल ने खारिज कर दिया था.

24 घंटे में विश्व रिकॉर्ड

पुलिस उपायुक्त नंदकुमार ठाकुर ने मुंबई मिरर को बताया, “गायक ने स्वीकार किया कि वह यूट्यूब पर 24 घंटों में अधिकांश दर्शकों के लिए विश्व रिकॉर्ड बनाना चाहते थे. यही कारण है कि उन्होंने इस कंपनी को 72 लाख रुपये का भुगतान किया.” लेकिन बादशाह ने इन आरोपों को खारिज किया है. उन्होंने कहा कि समन को मिलने के बाद उन्होंने मुंबई पुलिस से बात की थी.

बादशाह ने किया इंकार

इस पूरे मामले पर अब खुद बादशाह का बयान भी सामने आया है. बादशाह ने कहा, “मैंने पुलिस अधिकारियों की जांच में सहयोग और उनकी सहायता की है. मैंने अपने ऊपर लगाए गए सभी आरोपों का स्पष्ट रूप से खंडन करता हूं और मैं स्पष्ट करता कि मैं कभी भी इस तरह की ट्रेंड में शामिल नहीं था, न ही मैं उनकी निंदा करता हूं.”

जांच प्रक्रिया को कानून के अनुसार किया जा रहा है और मुझे अधिकारियों पर पूरा भरोसा है, जो इस मामले को संभाल रहे हैं. मैं उन सभी को धन्यवाद देना चाहता हूं जिन्होंने मुझे लेकर चिंता जताई है. यह मेरे लिए बहुत मायने रखता है.”

Stock Market Updates

Jalandhar News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *