जालंधरः-फ्रंटलाइन कोरोना वारियर के तौर पर अपनी ड्यूटी निभाते हुए कोरोना वायरस की चपेट में आने के 17 दिन बाद जालंधर के अतिरिक्त उपायुक्त विशेष सारंगल ने शुक्रवार को फिर से अपनी ड्यूटी ज्वाइन कर ली है। शुक्रवार को कार्यालय पहुंचने पर एडीसी ऑफिस के स्टाफ की तरफ से उनका स्वागत किया गया, जिसके बाद उन्होंने अधिकारियों के साथ विभिन्न मुद्दों पर एक बैठक की व लोगों की समस्याएं भी सुनीं।एडीसी विशेष सारंगल ने कोरोना पॉजिटिव आने के बाद अपने घर पर एकांतवास में रहते हुए वीडियो कांफ्रेंस व कंप्यूटर के जरिए अपनी रूटीन के दफ्तरी काम जारी रखे। इसके अलावा अस्पतालों में कोरोना मरीजों के लिए बैड्स की उपलब्धता, वेंटिलेटर और ऑक्सीजन सप्लाई को सुनिश्चित बनाए रखा।कोरोना वायरस के खिलाफ लड़ाई में अपने तुजुर्बे को साझा करते हुए उन्होंने कहा कि जब भी किसी में इस वायरस के लक्ष्ण दिखते हैं तो उसे बगैर किसी विलंब अपना टैस्ट करवाना चाहिए और डॉक्टरी सलाह लेनी चाहिए। उन्होंने कहा कि पहली सितंबर को वह घर में एकांतवास में चले गए थे और मैडीकल प्रोटोकॉल का पालन करते हुए घर में ही अलग रहे। एडीसी ने बताया कि सकारात्मक व उत्साहित रहकर और कुछ योग क्रियाओं के माद्यम से उन्हें इस वायरस के प्रभाव से जल्दी बाहर निकलने में मदद मिली। उन्होंने कहा कि हमें इम्युनिटी बढ़ाने के लिए कसरत करते रहना चाहिए।इस बीच उन्होंने लगातार अस्पतालों में कोविड मैनेजमेंट को लेकर अपनी निगाह बनाए रखी और इस लड़ाई में जुटे सभी लोगों को अपना मनोबल ऊंचा रखने के लिए प्रेरित किया। इसके अलावा वह अन्य अधिकारियों के साथ लगातार संपर्क में थे और सारी स्थिति पर निगाह बनाए रखे हुए थे। उन्होंने लोगों से मिशन फतेह को सफल बनाने की अपील करते हुए कहा कि लोग सरकार की तरफ से जारी निर्देशों का पालन करें व हाथ धोने, सोशल डिस्टेंसिंग व मास्क पहनने जैसे नियमों को अपनाएं ताकि वह इस बीमारी को खुद से दूर रख सकें। 

Stock Market Updates

Jalandhar News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *