इंडियन प्रीमियर लीग के 13वें सीजन का आयोजन कोविड 19 की वजह से यूएई में हो रहा है. लेकिन मौजूदा हालात के मद्देनज़र टूर्नामेंट के यूएई में आयोजित होने की संभावना बढ़ गई है.

कोरोना वायरस के बढ़ते मामले की वजह से भारत में इंटरनेशनल क्रिकेट की वापसी में देरी हो सकती है. कोविड 19 की वजह से भारत में जैसे हालात बन रहे हैं उनके मद्देनज़र अगले साल जनवरी में खेली जाने वाली भारत और इंग्लैंड के बीच सीरीज का आयोजन यूएई में हो सकता है. इतना ही नहीं अगले साल भी आईपीएल का आयोजन यूएई में होने की संभावना बढ़ गई है.

शनिवार को बीसीसीआई और सयुंक्त अरब अमीरात क्रिकेट बोर्ड के बीच मे एक समझौते पर हस्ताक्षर किये गए है. इस समझौते में दोनो देशों के क्रिकेट बोर्ड के बीच संबंधों को और मजबूत करने की बात कही गई है.

बीसीसीआई के कोषाध्यक्ष अरुण धूमल ने एबीपी न्यूज़ को कहा है कि फिलहाल बीसीसीआई का इस साल की आईपीएल तक ही अरब अमीरात क्रिकेट बोर्ड के साथ समझौता है. लेकिन बोर्ड सूत्रों के मुताबिक 2021 के भारत बनाम इंग्लैंड सीरीज और अगले साल की आईपीएल भी सयुंक्त अरब अमीरात में होने की संभावना है. शनिवार को यूएई क्रिकेट बोर्ड के साथ बैठक में बीसीसीआई के अध्यक्ष, सचिव और कोषाध्यक्ष शामिल हुए.

भारत में हर दिन कोरोना वायरस के करीब 1 लाख मामले सामने आ रहे हैं. अगर कोरोना के केस बढ़ने की रफ्तार यही रहती है तो भारत इस साल के अंत तक महामारी से सबसे अधिक प्रभावित देश बन जाएगा.

इंग्लैंड एंड वेल्स क्रिकेट बोर्ड पहले ही बीसीसीआई से अगले साल जनवरी में होने वाली सीरीज का आयोजन यूएई में करने की अपील कर चुका है. अब बोर्ड सूत्र ने एबीपी न्यूज़ को बताया है कि ये सीरीज के यूएई में आयोजित होने की संभावना बढ़ रही है .

हालांकि अगले साल आईपीएल का आयोजन काफी हद तक महामारी के प्रभाव पर निर्भर करेगा. अगर अगले साल मार्च तक कोरोना का वैक्सीन उपलब्ध नहीं होती है तो आईपीएल 2021 भी यूएई में खेला जा सकता है.

Stock Market Updates

Jalandhar News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *