जालंधरः– जिले में टैस्टिंग में तेज़ी लाने और कोरोना वायरस पर फतेह हासिल करने के उद्देश्य के तहत डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी के निर्देशों पर कोविड-19 सैंपलिंग सामर्थ्य को बढ़ाने का फ़ैसला किया गया है। कोरोना मरीजों की जल्द पहचान और इलाज को सुनिश्चित करने के लिए रोजाना 5000 सैंपल इकठ्ठे करने का लक्ष्य निर्धारित किया गया है।जालंधर में कोविड-19 की मौजूदा स्थिति का रिव्यू करने के लिए सेहत विभाग के अधिकारियों की एक बैठक एडीसी (विकास) विशेष सारंगल की अगवाई में हुई। सैंपल एकत्रित करने के लिए 20 नई सैंपलिंग टीमों का गठन करने के लिए कहा गया है, जिस के साथ जालंधर में अब कुल सैंपलिंग टीमें 100 हो जाएंगी। सैंपलिंग में तेज़ी लाने के लिए ईएसआई हस्पताल समेत नये सैंपलिंग कार्नर शहर के अलग-अलग स्थानों पर स्थापित किये जाएंगे। उन्होंने रीजनल डिसीज़ डायग्नोस्टिक लैब, लाडोवाली रोड के आधिकारियों को टैस्टिंग बढ़ाने के लिए उपकरणों की ज़रूरत के बारे में जानकारी देने को कहा है ताकि टैस्टिंग क्षमता जल्द से जल्द बढ़ाई जा सके। आरडीडीएल में उपकरणों की ज़रूरत से सम्बन्धित मामले को जल्द निपटाया जाएगा।विशेष सारंगल ने कहा कि इस महामारी को रोकने और संक्रमण की चेन को तोड़ने का एकमात्र रास्ता अधिक से अधिक जांच और इलाज करना है ताकि संक्रमित मरीज़ों की पहचान करके उन्हें जल्द से जल्द उपचार मुहैया करवाया जा सके। 

Stock Market Updates

Jalandhar News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *