जालंधरः- पटेल हस्पताल ने आरटी-पीसीआर कोविड टैस्ट करवाने वाले 106 ओपीडी मरीज़ों से गलती से 3.28 लाख रुपए अधिक वसूली के मामले में जिला प्रशासन को सभी मरीजों को अधिक वसूली गई राशि लौटाने को लेकर आश्वस्त किया है। डिप्टी कमिशनर घनश्याम थोरी के पास एक व्यक्ति ने शिकायत दर्ज करवाई थी कि पटेल अस्पताल ने उसका कोविड टैस्ट करने के लिए 21 जुलाई को लिए 5,500 रुपए वसूले थे, जबकि सरकार की तरफ से टैस्ट के लिए टैक्स सहित अधिक से अधिक 2,400 रुपए की फीस तय की गई है। इस शिकायत की डिप्टी कमिश्नर ने जांच के आदेश दिए थे, जोकि सहायक कमिश्नर रणदीप गिल ने पूरी की। जांच में अस्पताल प्रबंधन की गलती सामने आई।जिलाधीश ने बताया कि पटेल अस्पताल के प्रबंधकों ने ओपीडी के 106 मरीज़ों से अधिक वसूली गई 3.28 लाख रुपए की रकम वापस करने की बात मान ली है, साथ ही इतनी ही राशि अस्पताल की तरफ से गरीब व जरूरतमंद लोगों के इलाज के लिए अलग से रखी जाएगी।उन्होनें कहा कि अस्पताल के प्रबंधकों ने माना कि वे आरटी-पीसीआर टैस्ट की र्निधारित फीस 2400 रुपए के बारे में नहीं जानते थे।जिक्रयोग है कि जी.टी.बी नगर के निवासी राजीव कुमार ने जिलाधीश को अपनी शिकायत में कहा था कि पटेल अस्पताल ने कोविड -19 टैस्ट के लिए उससे 5,500 रुपए वसूल किए जबकि राज्य सरकार ने टैस्ट के लिए निर्धारित फीस 2,400 रुपए तय कर दी है। जांच में पाया गया कि सरकारी आदेशों का उल्लंघन करते हुए अस्पताल की तरफ से 3100 रुपए अधिक वसूल किये गए। अब अस्पताल मैनेजमेंट सभ मरीजों को यह अधिक वसूली गई फीस वापस लौटाएगा।

Stock Market Updates

Jalandhar News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *