जालंधर:- कनाडा के सरी में जालंधर के रहने वाले पंजाब पुलिस के एएसआई के इकलौते बेटे ने सुसाइड कर ली। मृतक की पहचान अमरिंदर सिंह (21) पुत्र मलकीत सिंह निवासी पीएपी के रूप में हुई है। युवक के पिता ने इस मामले में बड़ा खुलासा किया है। उनका आरोप है कि उनके बेटे ने लव-जिहाद के जाल में फंसकर जान दी है। अमरिंदर के दोस्तों ने बताया कि पाकिस्तान के कराची में एक मुस्लिम लड़की रहती थी, जिसने अमरिंदर को अपने जाल में फांस रखा था। वह उसे इंस्टाग्राम में मिली थी। वह उसके साथ वीडियो कॉल करता था और उसे पैसे व गिफ्ट भी भेजता था। हाल ही में उसने एक कोरियर पाकिस्तान भेजना था, जो किसी कारणवश रद्द हो गया था। मलकीत सिंह का आरोप है कि उनके बेटे की मौत की वजह उक्त लड़की और पाकिस्तान है। मलकीत सिंह ने बताया कि 2017 में उनका बेटा स्टडी वीजा पर कनाडा गया था। वहां वह पढ़ाई के साथ-साथ नौकरी भी करता था, लेकिन उसने कभी उन्हें पैसे नहीं भेजे। जब उससे पूछते तो वह बोलता था कि फीस और खर्चे बहुत ज्यादा है। उन्होंने कहा कि नवंबर, 2019 में उनके बेटे ने उनसे पैसे मांगने शुरू किए। मार्च, 2020 तक बेटे ने उनसे करीब 20 लाख रुपए मंगवाए। उसने कहा था कि वह एक लड़की के चक्कर में फंस गया है और उसने सारे पैसे उसे ही दिए हैं। अब उसके पास फीस देने के पैसे नहीं है। इस दौरान उसने सुसाइड का प्रयास भी किया था। तब परिवार वालों और उसके दोस्तों ने उन्हें काफी समझाकर शांत किया। तब बेटे ने कहा था कि वह अब दोबारा नहीं करेगा। उसके बाद 17 सितंबर को उसने सुसाइड कर ली। अब खुलासा हुआ है कि बेटा लव-जिहाद के चक्कर में फंसा था। मलकीत सिंह ने बताया कि कुछ दिन पहले बेटे ने उन्हें कहा कि उसकी पढ़ाई पूरी हो गई है और उसने कुछ सर्टीफिकेट भी भेजे। उन्होंने कहा कि अब उनके पास उसका शव लाने के लिए भी पैसे नहीं है। उन्होंने मोदी और कैप्टन सरकार से मांग की है कि इस मामले की उच्च स्तरीय जांच हो ताकि किसी और का बच्चा इस जाल में न फंस सके।

Stock Market Updates

Jalandhar News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *