जालन्धरः- शिव सेना हिन्द की तरफ से जालन्धर में विशेष बैठक का आयोजन किया गया। इस मौके बैठक में विशेष रूप से पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष निशांत शर्मा, राष्ट्रीय यूथ अध्यक्ष ईशान्त शर्मा उपस्थित हुए।इस मौके निशांत शर्मा और ईशान्त शर्मा ने कहा कि केंद्र सरकार की पोस्ट मैट्रिक स्कालरशिप योजना में पंजाब में 63.91 करोड़ रुपये के घोटाले के मामले में चीफ सेक्रेटरी विनी महाजन की जांच रिपोर्ट में कैबिनेट मंत्री साधू सिंह धर्मसोत को क्लीनचिट मिलना उन राजनीतिक लोगों के मुह पर करारा तमाचा लगा है जो कि साधू सिंह धर्मसोत की छवि को धूमिल कर राजनीतिक रोटियां सेंक रहे थे। अकाली दल और आम आदमी पार्टी के नेताओं ने राजनीतिक फायदा लेने के लिए कैबिनेट मंत्री साधु सिंह धर्मसोत के खिलाफ बेबुनियाद आरोप लगाकर बदनाम करने की बेहद गन्दी राजनीतिक की ।उन्होंने कहा कि अकाली और आप नेताओं को पहले खुद के गिरेबां में झांकना चाहिए।आप और अकाली नेताओ की आपसी मिलीभगत के चलते अनुसूचित जाति स्कॉलरशिप के नाम पर 63 करोड़ रुपये के घोटाले के झूठे व मनगढ़ंत आरोप लगाकर कैबिनेट मंत्री साधु सिंह धर्मसोत की छवि धूमिल करने की साजिश रची गई जो कि जांच में साफ हो गया है कि इस घोटाले में मंत्री का कोई हाथ नही है और ये घोटाला 63 करोड़ का नही है। बल्कि 7 करोड़ का भुगतान नियमों के विपरीत हुआ है और मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने चीफ सेक्रेटरी को नियमों के विपरीत किए गए 7 करोड़ के भुगतान को लेकर अधिकारियों की जिम्मेदारी तय करने के निर्देश दिए हैैं।उन्होंने कहा कि साफ सुथरी व बेदाग छवि के चलते लोगों ने कैबिनेट मंत्री साधु सिंह धर्मसोत को 5 बार विधायक बनाया है और 3 बार वह मंत्री बन चुके है और इतिहास गवाह है निक्कमे बईमान नेताओ को दूसरी बार चुनाव नही जितने देती है। आप व अकाली नेताओं से कैबिनेट मंत्री साधु सिंह धर्मसोत की प्रसिद्धि हजम नही हो रही है। जिस के चलते इन पर झूठे आरोपों की बौछार की गई ताकि आगामी चुनावों में धर्मसोत का विजय रथ रोका जा सके।उन्होंने कहा कि मंत्री साधु सिंह धर्मसोत को जब चाहे कोई भी आम से आम नागरिक मिल सकता है। बेहद सरल स्वभाव व सेवाभावी व्यतित्व के धनी साधु सिंह धर्मसोत को झूठे आरोप लगाकर बदनाम करना बहुत ही निंदनीय घटना है। ऐसी गन्दी राजनीति करने वाले राजनीतिज्ञों को शर्म आनी चाहिए।उन्होंने ने कहा कि अगर कैबिनेट मंत्री साधु सिंह धर्मसोत ने बईमानी या कोई जनता के पैसों से धोखाधड़ी की होती तो लोग उन्हें 5 बार विधायकी का चुनाव न जिताते। लोगों में उन की मेहनती ईमानदार व निस्वार्थ भाव से सेवा करने वाली छवि है। जिस की वजह से लोग उन्हें बार बार अपने हलके की सेवा का अवसर देते है।

Stock Market Updates

Jalandhar News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *