जालंधरः– शहर के ट्रैफ़िक समस्याओं के हल के लिए स्मार्ट सीटी प्रोजैक्ट के सीटी स्तर के एडवाइजरी फोरम ने स्मार्ट सीटी प्रोजेक्ट अधीन गढ़ा रोड और गुरू नानकपुरा रेलवे ओवरब्रिज के निर्माण को भी शामिल कर लिया है।ज़िला प्रशाकी कंपलैक्स में सी.एल.एफ की बैठक की अध्यक्षता के बाद पत्रकारों से बातचीत करते हुए मैंबर पार्लियामेंट चौधरी संतोख सिंह ने बताया कि दोनों रेलवे ओवर ब्रिज स्मार्ट सीटी प्रोजेक्ट के अंतर्गत 119.15 करोड़ रुपए की लागत से बनाए जाएंगे और इन प्रोजेक्टों के लिए डिटेल प्रोजैक्ट रिपोर्ट अंतिम परवानगी के लिए चण्डीगढ़ में भेज दीं गई हैं। इस अवसर पर उनके साथ विधायक सुशील कुमार रिंकू, रजिन्दर बेरी और अवतार सिंह (बावा) हेनरी, मेयर जगदीश राज राजा, डिप्टी कमिशनर घनश्याम थोरी और पुलिस कमिशनर गुरप्रीत सिंह भुल्लर भी मौजूद थे।संसद मैंबर ने बताया कि 1242.84 करोड़ रूपये से अलग -अलग स्मार्ट सीटी प्रोजेक्ट अधीन कार्य किये जाने हैं, जिसके अंतर्गत 348.88 करोड़ रुपए से पहले ही कार्य चल रहे हैं। उन्होंने आगे कहा कि 485.79 करोड़ के प्रोजेक्टों के लिए टैंडर पहले ही कर दिए गए थे जबकि 133.65 करोड़ रुपए के अलग -अलग कामों के लिए टैंडर किये जाने हैं क्योंकि इन प्रोजेक्टों के लिए डी पी आर अंतिम परवानगी के लिए बकाया हैं। चौधरी ने आधिकारियों को कहा कि राज में कोविड -19 महामारी का पसार हो गया था, इस लिए स्मार्ट सीटी प्रोजैक्ट अधीन बकाया कामों को सम्बन्धित आधिकारियों के साथ निरंतर समझ कर तेज़ी से आगे बढ़ाने की ज़रूरत है।उन्होंने कहा कि 348.88 प्रोजेक्टों कार्यवाही अधीन हैं, जिस में 17.83 करोड़ रुपए की लागत से सरकारी इमारतों की छतों के सोलर पैनलों की स्थापना, 20.32 करोड़ की लागत से ट्रैफ़िक जंकशन का सुधार, 12.74 करोड़ रुपए से ग्रीन डिवैल्पमैंट फेज -1, 6.26 करोड़ रुपए की लागत से सीटी रेलवे स्टेशनों का नवीनीकरन, 1.40 करोड़ रुपए की लागत से प्लास्टिक बोतल क्रशिंग रिवर्स वैंडिंग मशीनों की स्थापना, 20.22 करोड़ की लागत से शहरी -स्तर आफ़त प्रबंधन गतिविधियों के लिए योजना, 2.71 करोड़ की लागत से रेन्क बाज़ार में लटकतीं बिजली की तारों के उचित प्रबधन 0.90 करोड़ रुपए की लागत से सैनेटरी वैनडिंग मशीनों और इलेक्ट्रिक इनसिनेरेटर की स्थापना, 43.84 करोड़ की लागत से एल.ई.डी. लगाना, 20.99 की लागत से ए.बी.डी. क्षेत्र में बारिश के पानी की निकासी प्रणाली को अपग्रेड करना और बल्क सरफेस वाटर सप्लाई स्कीम जालंधर के लिए 200 करोड़ शामिल हैं।विधायक अवतार सिंह (बावा) हेनरी ने अन्य बाज़ारों में भी एक समान समस्याएँ होने बारे चिंता अभिवक्त करने पर संसद मैंबर ने आधिकारियों को अन्य पुराने बाज़ारों को भी सुरक्षा उपाय प्रोजेक्टों के अंतर्गत शामिल करने के निर्देश दिए। उन्होंने कहा कि सी एल ए एफ. के सदस्यों का कहना है कि शहर को आधुनिक रास्ते पर चलाने और इस के संपूर्ण विकास को यकीनी बनाने के लिए ऐसे अन्य प्रोजेक्टों को बड़े स्तर पर तेजी देने की ज़रूरत है। इसी तरह 6.05 करोड़ रुपए की लागत से कंस्टरकशन एंड डैमोलीशन वेस्ट मैनेजमेंट यूनिट स्थापित करने का फ़ैसला किया गया, जिस के फलसवरूप शहर के निर्माण और तोड़ फोड़ के कार्यवाही दौरान पैदा हुए मलबों को वैज्ञानिक ढंग से निपटाया जा सकेगा और इस से निर्मित सामग्री को टाइल बनाने के लिए उपयोग का फ़ैसला किया गया। चौधरी ने ज़ोर देकर कहा कि कोविड -19 के कारण बकाया काम पूरे ज़ोर -शोर से फिर शुरू किये जाएँ जिससे ज़्यादातर काम निर्धारित समय -हद में पूरे किये जा सकें। उन्होंने कहा कि प्राजैकट महामारी के कारण रुक गए थे, जिन को जल्दी से जल्दी फिर -निर्धारित करने की ज़रूरत है। इस दौरान बलटरन पार्क स्पोर्टस रंग प्रोजैक्ट को भी रिव्यु किया गया। आधिकारी ने मैंबर पार्लियामेंट को जानकार करवाया कि कोरोना वायरस महामारी करके इस प्रोजैक्ट में देरी हो गई है, जिस पर विधायक अवतार हेनरी जूनियर ने कहा कि प्रोजैक्ट शुरू होने तक इस क्रिकेट स्टेडियम की मेंटिनेंस का काम पंजाब क्रिकेट अकैडमी से करवाया जाये। जिससे यहाँ खेल सरगर्मियाँ जारी रह सकें। इस अवसर पर अतिरिक्त क डिप्टी कमिशनर जसबीर सिंह, कमिशनर नगर निगम, जालंधर करुनेश शरमा, डीसीपी गुरमीत सिंह और अन्य मौजूद थे।

Stock Market Updates

Jalandhar News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *