जालंधरः- कैबिनेट मंत्री ओपी सोनी ने शनिवार को भगवान वाल्मीकि जी के प्रकाश पर्व के अवसर पर जालंधर में एससी स्टूडेंट्स के लिए डॉ. बीआर अंबेडकर पोस्टमैट्रिक स्कॉलरशिप की शुरूआत की। उनके साथ सांसद चौधरी संतोख सिंह, विधायक परगट सिंह, विधायक अवतार हैनरी जूनियर (बावा हैनरी), विधायक राजिंदर बेरी, मेयर जगदीश राजा, डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी भी जिला प्रशासकीय काम्पलेक्स में आयोजित वर्चुअल लांचिंग समारोह में मौजूद थे। इस कार्यक्रम की अगवाई पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंदर सिंह ने की।पंजाब सरकार के इस कदम को एससी स्टूडेंट्स का भविष्य बचाने की दिशा में मीलपत्थर बताते हुए उन्होंने कहा कि सरकार ने ज्यादा से ज्यादा एससी विद्यार्थियों को इस स्कीम का लाभ देने के लिए इसमें आय सीमा का दायरा 4 लाख रुपए कर दिया है जबकि केंद्र सरकार की पुरानी स्कीम में यह सीमा अढ़ाई लाख रुपए की थी। उन्होंने बताया कि यह स्कीम शैक्षिक सत्र 2021-22 से लागू होगी।उन्होंने और विस्तार से जानकारी देते हुए कहा कि यह स्कीम एससी स्टूडेंट्स के लिए है, जोकि पंजाब (चंडीगढ़ समेत) के रहने वाले हैं और जिन्होंने अपनी दसवीं की पढ़ाई पंजाब से की है। सोनी ने कहा कि इस स्कीम के तहत अनुमानित तौर पर 600 करोड़ रुपए एससी स्टूडेंट्स की पढ़ाई पर खर्च होंगे, जिसमें से 168 करोड़ रुपए सरकारी शिक्षण संस्थानों और 432 करोड़ रुपए निजी शिक्षण संस्थानों की तरफ से वहन किए जाएंगे। स्कीम के तहत 60 फीसदी राशि की अदायगी पंजाब सरकार की तरफ से की जाएगी, जोकि करीब 260 करोड़ रुपए बनती है। उन्होंने कहा कि ये स्कीम लाखों एससी स्टूडेंट्स के लिए राहत भरा कदम होगा जिन्हें केंद्र सरकार की पोस्ट मैट्रिक स्कॉलरशिप स्कीम के तहत लाभ बंद होने के बाद काफी परेशानी हो रही थी। क्योंकि साल 2018 में केंद्र सरकार ने स्कीम में कई बदलाव करके सारा वित्तीय बोझ राज्य सरकार पर डाल दिया था और केंद्रीय ग्रांट बंद कर दी थी।मंत्री ओपी सोनी ने आगे बताया कि मुख्यमंत्री कैप्टन अमरेंदर सिंह की अगवाई में पंजाब सरकार ने एससी स्टूडेंट्स के कल्याण के लिए अपना वादा बेहद कम समय में पूरा करते हुए यह स्कीम लांच कर दी है क्योंकि केंद्र सरकार ने स्कीम के तहत फंडिंग बंद करके लाखों विद्यार्थियों को अधर में छोड़ दिया था। कैप्टन सरकार का इस अहम फैसले के लिए आभार व्यक्त करते हुए उन्होंने कहा कि यह स्कीम एससी स्टूडेंट्स के भविष्य की रक्षा करेगी और उन्हें उच्च शिक्षा हासिल करने का सपना पूरा करने में मददगार होगी।इस कार्यक्रम के दौरान कैबिनेट मंत्री की तरफ से मौके पर ही पांच छात्राओं को पंजीकरण सर्टीफिकेट भी जारी किए। ये सर्टीफिकेट ईशा, ट्विंकल, सुनैना कॉल, हरप्रीत कौर और ईशा को जारी किए गए, जिन्हें इस स्कीम के तहत लाभ दिया जाएगा। इस मौके पर सीनियर डिप्टी मेयर सुरिंदर कौर, एडीसी जसबीर सिंह, डिस्ट्रिक्ट वैल्फेयर ऑफिसर लखविंदर सिंह, जिला शिक्षा अधिकारी हरिंदरपाल सिंह, कांग्रेस लीडर अंगद दत्ता व अन्य मौजूद थे।

Stock Market Updates

Jalandhar News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *