तरनतारन:- एक ही घर में बुजुर्ग मां, गर्भवती बेटी और दोहती की जहरीला पदार्थ निगलने से मौत हो गई थी। जहरीला पदार्थ निगलने से कुछ समय पहले तीनों मृतकों की तरफ से अपनी सैल्फी मायके परिवार को भेजी गई थी। आप को बता दें कि जिस दिन गर्भवती महिला की डिलीवरी होनी थी, उसी दिन उसका अंतिम संस्कार किया गया। मृतक के भाई परमजीत सिंह ने कहा कि आरोपी राजबीर सिंह को फांसी की सजा मिलनी चाहिए।गीतइंद्र कौर (29) बेटी अजीत सिंह निवासी मलोट जो करीब 20 साल पहले हुई पिता की मौत के बाद तरनतारन अपनी मां के साथ आकर रहने लग गई। गीतइंद्र कौर को अपने पिता पंजाब रोडवेज में बतौर इंस्पैक्टर थे, कि जगह पर करीब 6 साल पहले तरनतारन डीपू में क्लर्क की नौकरी मिली थी। गीतइंद्र कौर की शादी के बाद एक बच्ची नूरदीप कौर पैदा हुई। कुछ सालों बाद गीतइंद्र कौर का अपने पति के साथ तालाक हो गया और उसने राजबीर सिंह के साथ 2019 में दूसरी शादी करवा ली।  शादी के बाद दोनों में घरेलू विवाद शुरू हो गया, जिसके कारण गीतइंद्र कौर की तरफ से दूसरी शादी करवाने के बावजूद जिंदगी सफल नहीं हो पाई। प्रीतम कौर ने अपनी बहन गुरमीत कौर को फोन पर रोते हुए राजबीर और गीतइंद्र के आपसी झगड़े संबंधित जानकारी दी और कहा कि वह अपनी बेटी और दोहती सहित जहर खाकर हमेशा के लिए झगड़े से राहत लेने जा रही है, जिससे कुछ मिनटों बाद ही प्रीतम कौर ने अपनी बेटी सहित दोहती और खुद कोई जहरीली दवाई निगल ली। तीनों को इलाज के लिए अस्पताल ले जाया गया, जहां तीनों की मौत हो गई।9 महीनों की गर्भवती गीतइंद्र कौर को डाक्टरों ने बड़े ऑप्रेशन के साथ होने वाली डिलीवरी के लिए 3 दिसम्बर की तारीख दी थी, परंतु परमात्मा को शायद यह मंजूर नहीं था कि गीतइंद्र कौर के घर एक और लड़की पैदा होने जा रही थी। डी.एस.पी. सुच्चा सिंह बल्ल ने बताया कि मृतक प्रीतम कौर की बहन गुरमीत कौर के बयानों पर गीतइंद्र कौर के पति राजबीर सिंह पुत्र जसपाल सिंह के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया गया है।जिसके बाद सिविल अस्पताल में डाक्टरों के एक बोर्ड की तरफ से पोस्टमार्टम कर शवों को वारिसों के हवाले करते हुए गर्भवती महिला के पति के खिलाफ केस दर्ज कर अगली जांच शुरू कर दी है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *