शाहकोट- श्री शांती गिरी जी गोकुल गऊशला सेवा समिति लोहियां शाहकोट जिला जालंधर में माननीय मुख्यमंत्री पंजाब कैप्टन अमरिंदर सिंह के दिशा निर्देश और पंजाब गऊ सेवा कमिशन की ओर से किए जा रहे प्रयासों और पशुपालन विभाग के सहयोग से तथा श्री 108 शांती गिरी जी महाराज के आशीर्वाद से इस गऊशला में और पंजाब गऊ सेवा कमिशन द्वारा क्रमवार अनुसार 200 गऊधन सेहत भलाई कैंपों को प्रदेश में बढावा दिया जा रहा है। इसी के तहत आज यह कैंप लगाया गया है जिसमें 250 गोधन का सेहत का इलाज किया गया, गऊ सेवा कमिशन चेयरमैन सचिन शर्मा ने जिनके साथ विधायक शाहकोट हरदेव सिंह लाडी शेरोवालिया भी थे, कहा कि जहाँ मुखयमंत्री प्रदेश की जनता के लिए प्रगतिशील कार्य कर रहे हैं, वहीं दूसरी ओर गऊधन की सेवा सम्भाल के लिये वचनबध हैं। पंजाब गऊ सेवा कमिशन ने प्रदेश में गऊ भलाई कैंप की शुरुआत पहली बार प्रदेश की है जिसके सार्थक परिणाम मिल रहे हैं और गऊमाता की सेहत का विशेष रूप से ध्यान रखा जा रहा है कैंपों में बीमार, चोटिल, डी- वार्मिंग, एंटीबायोटिक्स, टीकाकरण और तंदुरुस्ती के लिए दवाईयाँ आदी से पशुपालन विभाग के डाक्टरों द्वारा हाज़िर रह कर इलाज किया जाता है, ये प्रयास आने वाले समय में भी इसी प्रकार जारी रहेंगे।उन्होंने कहा की पंजाब गऊ सेवा कमिशन के प्रगतिशील कदम गोधन के लिये हितकर है। कमिशन के द्वारा हाल ही में गऊमाता के वैभव लिये प्रदेश में जागरुकता अभियान की भी शुरुआत की है और प्रदेश की जनता को गऊमाता का महत्व से अवगत कराते हुए गऊमाता के वैभव को बरकरार रखने के लिए आनेवाली पीढियोँ को वो ज्ञान दिया जाय जो हमारे गुरुओं-भगवान, वेदों – ग्रंथों से, हमारे बुजुर्गो, हमारे पूर्वजों ने दिया है। उन्होंने कहा की गऊमाता की सेवा से 33 कौटि देवी देवताओं का आशीष प्राप्त होता है और इसकी सेवा कभी वयर्थ नहीं जाती है और हमारा समाज का कल्याण करती है। गऊ माता का दूध जहाँ गुणकारी है वहीं गोबर भी गुणकारी है दूध से मनुष्य का पोषण करने वाली गोमाता सर्वधरम के लिए अमुल्य है। गोबर से बनी हवन सामग्री, बागवानी के लिये गमले, दिये, खेती के लिये खाद , लकड़ी की भांति बने बाले, ओषदियां आदी निर्मित सामान का उपयोग करना चाहिए और रासायनिक उत्पादोँ के उपयोग से बचना चाहिए। पंजाब गऊ सेवा कमिशन सड़कों पर घूम रहे बेसहारा गौवंश को गौशालओँ तक पहुंचाने के लिए भी कार्य को हर संभव पूरा करने के लिए भी वचन्भध है जो की कोविड – 19 लोकडाऊंन के कारण रुक गया था जिसने फिर रफतार पकड़ ली है। इस अवसर पर एस.डी.एम संजीव शर्मा, पवन गांधी प्रधान गऊशला, डॉ. मोहिंदरपाल उप निदेशक पशुपालन जालंधर एवं अन्य भी उपस्थित थे।

Jalandhar News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *