दिल्ली :दिल्ली बार्डर पर किसान कृषि कानूनों के विरोध में रोष पर्दशन कर रहें है। किसानों के समर्थन में आई सिंघड़ी गांव (करनाल) के संत बाबा ने खुद को गोली मार कर आत्महत्या कर ली। वह गांव के गुरुदवारे में रहते थे और उनकी देश विदेश में काफी मान्यता है। बहुत से लोग उनके दर्शन करने आते थे। वह सिंधु बार्डर पर कथा भी करते थे। आज सुबह भी उन्होनें कथा की थी। वह किसानों के साथ हो रही धक्केशाही से काफी दुखी थे। बताया जा रहा है कि आज खाना खाने के बाद संत बाबा राम सिंह ने अपनी कार में जा कर खुद को गोली मार ली। जिसके बाद वहा सनसनी फैल गई। उन्हें सोनीपत के पारस अस्पताल ले जाया गया पर उनकी मौत हो चुकी थी। आत्महत्या से पूर्व संत जी ने एक सुसाइड नोट भी छोड़ा है। जिसमें उन्होनें लिखा है किसानों का दुख मुझसे देखा नही जा रहा। उन्होनें लिखा है कि बेइंसाफी करना गलत है तो बेइंसाफी को सहना भी पाप है। संत जी के जान देने के बाद सिंधु बार्डर पर माहौल काफी तनावपूर्ण हो गया है। वहां पर भारी संख्या में पुलिस फोर्स तैनात कर दी गई है।पुलिस मामले की जांच कर रही है।

Jalandhar News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *