रामपुर-मुरादाबाद बॉर्डर पर किसानों को पुलिस ने रोक दिया था. हालांकि किसानों ने बैरिकेडिंग तोड़ दी और पुलिस पर हमला कर दिया. एसएसपी पर हमले की खबर मिलते ही मुरादाबाद रेंज के आईजी रमित शर्मा और मुरादाबाद के डीएम राकेश कुमार सिंह मौके पर फोर्स के साथ पहुंचे.

मुरादाबाद. यूपी के मुरादाबाद में दिल्ली जा रहे किसान उग्र हो गए. ये किसान दिल्ली में किसान आंलोदन में शामिल होने के लिए जा रहे थे. पुलिस के रोकने पर किसान उग्र हो गए और मुरादाबाद-रामपुर बॉर्डर पर एसएसपी मुरादाबाद और एसपी रामपुर की गाड़ी पर हमला कर दिया था. हमले में मुरादाबाद के एसएसपी प्रभाकर चौधरी घायल हो गये. हमला करने वाले किसानों को मुरादाबाद पुलिस ने मुंडापाण्डेय थाना इलाके में दिल्ली-लखनऊ नेशनल हाइवे 9 पर दिल्ली जाते समय टोल पर रोक लिया था. हंगामे के चलते हाईवे पर कई घंटों तक जाम लगा रहा. आखिरकार, किसानो की जिद के आगे मुरादाबाद पुलिस को हार माननी पड़ी और देर रात उन्हें दिल्ली जाने के लिए पुलिस ने छोड़ दिया.

किसानों ने तोड़ी बैरिकेडिंग
बता दें कि मंगलवार को रामपुर-मुरादाबाद बॉर्डर पर किसानों को पुलिस ने रोक दिया था. हालांकि किसानों ने बैरिकेडिंग तोड़ दी और पुलिस पर हमला कर दिया. एसएसपी पर हमले की खबर मिलते ही मुरादाबाद रेंज के आईजी रमित शर्मा और मुरादाबाद के डीएम राकेश कुमार सिंह मौके पर फोर्स के साथ पहुंचे. किसानों को हाइवे पर रोक लिया गया. इस दौरान वहां, दिल्ली सिख गुरद्वारा प्रबंध कमेटी के अध्यक्ष मनजिंदर सिंह सिरसा मौके पर पहुंच गए. उसके बाद किसानो को दिल्ली जाने दिया गया.

हमले में घायल मुरादाबाद के एसएसपी प्रभाकर चौधरी से जब सवाल किया गया तो वो खुद पर हुए हमले को निजी बताने लगे. उन्होंने बताया कि 100 से 150 किसानों को दिल्ली जाने की इजाजत इस शर्त पर दी गयी है कि वो शांतिपूर्ण तरीके से जाएं.

Jalandhar News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *