नई दिल्ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज 72वीं बार मन की बात के जरिए देश को संबोधित किया। यह 2020 की पीएम मोदी की आखिरी मन की बात थी।प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मन की बात कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कहा कि चार दिन बाद नया साल शुरू होने वाला है। अगले साल अगली मन की बात होगी। उन्होंने कहा कि देश में नया सामर्थ्य पैदा हुआ है। इस नई सामर्थ्य का नाम आत्मनिर्भरता है। देश में बने खिलौनों की मांग बढ़ रही है। पीएम मोदी ने इस साल के आखिरी मन की बात कार्यक्रम में आत्मनिर्भर भारत, स्वच्छता अभियान, वोकल फॉर लोकल, तेंदुओं की बढ़ती संख्या सहित कई मुद्दों का जिक्र किया। उन्होंने कहा कि नए साल में लोग यह प्रण लें कि वे हमारे देश वासियों के खून-पसीने से बने उत्पादों को खरीदेंगे। 12 साल की मेहनत के बाद विलुप्त हो रही कोरवा भाषा का शब्दकोष बनाने वाले झारखंड की कोरवा जनजाति के हीरामन जैसे ही कई अन्य लोगों की प्रेरणादायक कहानी सुनाकर पीएम ने आखिर में देश की जनता को नए साल के लिए शुभकामनाएं दीं। पीएम मोदी ने अपने संबोधन में कहा, ‘हमारा देश, 2021 में, सफलताओं के नए शिखर छुए, दुनिया में भारत की पहचान और सशक्त हो, इसकी कामना से बड़ा और क्या हो सकता है।’ 

Jalandhar News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *