जालंधर- जालंधर से 1320 प्रवासियों को लेकर छठा श्रमिक एक्सप्रेस रेलगाड़ी आजमगड़ के लिए रवाना हुई और इस रेल गाड़ी ऊपर आने वाला सारा ख़र्च 7.06 लाख रुपए पंजाब के मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह के नेतृत्व वाली राज्य सरकार की तरफ से किया जायेगा। मुख्य मंत्री पंजाब की तरफ से किये गए इस विशेष प्रयासों का उदेश्य पंजाब में लाकडाऊन /कर्फ़्यू के दौरान फंसे प्रवासियों को नि:शुल्क सफर की सुविधा प्रदान करना है। जालंधर से चलने वाली यह छठा श्रमिक एक्सप्रेस रेल गाड़ी है इस से पहले पाँच रेल गाड़ीयाँ जिन में डाल्टनगंज, गाजीपुर और बनारस, लखनाऊ, गोरखपुर और आयोध्या के लिए जालंधर शहर के रेलवे स्टेशन से रवाना हो उठाईं हैं। अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर जसबीर सिंह और डिप्टी कमिश्नर पुलिस बलकार सिंह की देख रेख में पंजाब रोडवेज़ की तरफ से मुहैया करवाई गई बसों के द्वारा बल्ले-बल्ले फार्म, खालसा सीनियर सकैंडरी स्कूल और गुरू नानक देव यूनिवर्सिटी कालेज से लाकर प्रवासियों को रेल गाड़ी में चढ़ाने के उपरांत अपनी मंजिल की तरफ रवाना हुई। ज़िला प्रशासन द्वारा डिप्टी कमिश्नर वरिन्दर कुमार शर्मा और पुलिस कमिश्नर गुरप्रीत सिंह भुल्लर के नेतृत्व में प्रवासियों को बढ़िया ढंग से रेलगाड़ी में चढ़ाने के लिए पुख़ता प्रबंध किये गए थे। रेलवे स्टेशन पर सामाजिक दूरी को बरकरार रखते हुए प्रवासियों को रेल गाड़ी में चड़ाया गया। इस तरह सभी यात्री की मैडीकल स्क्रीनिंग के लिए स्वास्थ्य विभाग की तरफ से ख़ास तौर पर स्वास्थ्य टीमों को तैनात की गई थीं। अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर जसबीर सिंह जो कि ख़ास तौर पर इस मौके मौजूद थे ने बताया कि पंजाब सरकार की तरफ से प्रवासियों को नि:शुल्क उनके मूल राज्य में भेजने के लिए इस रेल गाड़ी पर 7.06 लाख रुपए का ख़र्च किया गया है। उन्होंने कहा कि जो प्रवासियों पंजाब सरकार के पोर्टल पर रजिस्टर्ड हुए हैं उनको ही रेल गाड़ी में सफ़र करने की इजाज़त दी गई है। उन्होंने कहा कि प्रवासियों को निर्विघ्न यात्रा की सुविधा मुहैया करवाने के लिए हर संभव प्रयास किये गए हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *