चंडीगढ़:- भारत में कोविड वैक्सीन का प्रयोग शुरू होने के अंतिम चरण में पहुँचने से पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने आज ऐलान किया कि भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद की एक बार मंजूरी मिलने पर पंजाब में वैक्सीन का पहला टीका वह लगवाएंगे। मुख्यमंत्री ने यह ऐलान वर्चुअल कैबिनेट मीटिंग के दौरान किया जिसमें पंजाब में कोविड की स्थिति और वैक्सीन के लिए राज्य की तैयारियों संबंधी चर्चा की गई। मीटिंग के दौरान बताया गया कि कोरोना की वैक्सीन के लिए भारत सरकार की रणनीति के तर्ज पर पंजाब ने स्वस्थ कामगारों, फ्रंटलाईन वर्करों, बुज़ुर्गों की आबादी (50 साल से अधिक) और अन्य बीमारियों से पीडि़त लोग (50 साल या इससे कम) को प्राथमिक वर्ग में शामिल किया है। पंजाब के स्वास्थ्य सचिव हुस्न लाल के मुताबिक राज्य ने 1.25 लाख सरकारी और प्राईवेट स्वास्थ्य कामगारों का डाटा तैयार किया है, जिनको पहले चरण में वैक्सीन दी जानी है। उन्होंने कहा कि भारत सरकार की वैक्सीन संबंधी प्राथमिकता के हिसाब से राज्य की लगभग 3 करोड़ की आबादी में से राज्य की तकरीबन 23 प्रतिशत जनसंख्या (70 लाख) इसके घेरे में आती है। विश्व स्वास्थ्य संगठन, यू.एन.डी.पी. जैसी संस्थाएं इस प्रक्रिया में विकासमुखी सहयोगियों के तौर पर काम कर रही हैं। 

Crime News

Jalandhar News

नशा मुद्दा- भार्गव कैंप में इस युवक ने किस किस को डाला परेशानी में देखें, Share Video

बस्ती दानिशमंदा श्मशान घाट में तोड़ा पुराना शिव मंदिर विरोध दल बल के साथ पहुंची पुलिस ( Share VIdeo )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *