पुलिस व परिवहन विभाग ने मिलकर पिछले तीन महीने में 7795 चालान काटे और 93.14 लाख रुपए की लगाई पेनल्टी

जालंधर- जिले में ट्रैफिक प्रबंधन को मजबूती प्रदान करते हुए डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी ने वीरवार को जिला रोड सेफ्टी कमेटी को एक लाख रुपए के सीएसआर फंड्स जारी किए हैं, जोकि एक विशेषज्ञ समिति की निगरानी में खर्च किए जाएंगे।जिला रोड सेफ्टी कमेटी की बैठक की अगुवाई करते हुए डिप्टी कमिश्नर ने कहा कि ये फंड्स शहर में ट्रैफिक प्रबंधन को लेकर तत्काल जरूरतों को पूरा करने के लिए खर्च किए जाएंगे। एसडीएम फिल्लौर डॉ. विनीत शर्मा की अगुवाई में विशेषज्ञ समिति की निगरानी में ये फंड्स जिला रोड सेफ्टी कमेटी की अगली बैठक से पहले खर्च किए जाएंगे। इस कमेटी में रोड सेफ्टी कमेटी के कुछ मेंबर्स, ट्रैफिक पुलिस के मेंबर्स और पीडब्ल्यूडी व निगम के मेंबर्स को शामिल किया गया है।इस दौरान उन्होंने शहर में ट्रैफिक लाइटों की सिंक्रोनाइजेशन के मुद्दे पर बोलते हुए डिप्टी कमिश्नर ने नगर निगम को निर्देश दिए कि बीएमसी चौक से लेकर वर्कशाप चौक तक महावीर मार्ग पर आने वाली ट्रैफिक लाइटों की सिंक्रोनाइजेशन की जाए। ये सिंक्रोनाइजेशन इस हिसाब से की जाए कि ट्रैफिक फ्लो में आसानी हो और ट्रैफिक लाइटों पर पहुंच रहे लोगों को ग्रीन सिग्नल के लिए ज्यादा देर तक न अटकना पड़े।इस दौरान सचिव रीजनल ट्रांसपोर्ट अथारिटी बरजिंदर सिंह ने जिला पुलिस व परिवहन विभाग द्वारा ट्रैफिक नियमों का उल्लंघन करने वालों के खिलाफ की गई कार्रवाई की रिपोर्ट कमेटी मेंबर्स के साथ सांझा की। उन्होंने बताया कि पिछले तीन महीने में (सितंबर से नवंबर तक) जिले में 7795 चालान किए गए हैं और नियम तोड़ने वालों से 93,14,000 रुपए जुर्माना वसूला गया है। उन्होंने बताया कि शराब पीकर गाड़ी चलाने के मामले में 14 चालान करते हुए 70 हजार रुपए पेनल्टी वसूली गई है। इसी तरह सीट बेल्ट नहीं लगाने पर 3592 चालान करके 35,92,000 रुपए की पेनल्टी, 4097 चालान बिना हेलमेट वाले वाहनों के करके 40,97,000 रुपए की पेनल्टी, कम उम्र के वाहन चालकों के 19 चालान करके 95,000 रुपए पेनल्टी और ओवरलोडेड वाहनों के 73 चालान करके 14,60,000 रुपए की पेनल्टी वसूली गई है। इस दौरान अतिरिक्त उपायुक्त जसबीर सिंह ने शिक्षा विभाग को अंडरएज ड्राइविंग के नुकसान के बारे में जागरूकता फैलाने के लिए मुहिम शुरू करने के लिए निर्देश दिए। उन्होंने अधिकारियों को 10 से 12वीं कक्षा के विद्यार्थियों के बीच ऑनलाइन जागरूकता मुकाबले करवाने के लिए कहा ताकि इस उम्र वर्ग के विद्यार्थियों ने अंडरएज ड्राइविंग को लेकर ज्यादा से ज्यादा जागरूकता लाइ जा सके। इस मौके पर डीसीपी नरेश डोगरा, एसडीएम फिल्लौर डॉ. विनीत जोशी, एडीसीपी ट्रैफिक गगनेश कुमार मौजूद थे। 

Crime News

Jalandhar News

नशा मुद्दा- भार्गव कैंप में इस युवक ने किस किस को डाला परेशानी में देखें, Share Video

बस्ती दानिशमंदा श्मशान घाट में तोड़ा पुराना शिव मंदिर विरोध दल बल के साथ पहुंची पुलिस ( Share VIdeo )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *