बसेरा स्कीम, स्मार्ट मीटर, ई -दाखिल पोर्टल, ‘धीआं दी लोहड़ी’ और स्पोर्टस किटों के वितरण से पंजाब निवासियों को मिलेगा बड़े स्तर पर लाभ

जालंधर -वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल और खेल और युवक सेवाओं मंत्री राणा गुरमीत सिंह सोढी ने गुरूवार को जालंधर में राज्य सरकार की पाँच महत्वपूर्ण स्कीमों की शुरुआत की। जिससे पंजाब के निवासियों को बड़े स्तर पर लाभ होगा।मुख्य मंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह की अध्यक्षता मे वर्चुअल प्रोग्राम में हिस्सा लेते हुए कैबिनेट मंत्री मनप्रीत सिंह बादल और राणा गुरमीत सिंह सोढी ने कहा कि राज्य सरकार ने इन पाँच स्कीमों जिन में झुग्गी -झोंपड़ी निवासियों को मालिकाना अधिकार देने के लिए बसेरा स्कीम, स्मार्ट मीटरज़, ई -दाखिल, ‘धीआं दी लोहड़ी’ और स्पोर्टस किटों का वितरण शामिल है, की शुरूआत करके ऐतिहासिक कदम उठाया है। इस अवसर पर उनके साथ विधायक राजिन्दर बेरी, हरदेव सिंह लाडी शेरोवालिया, डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी, मेयर जगदीश राज राजा और नगर निगम के कमिश्नर करनेश शर्मा भी मौजूद थे। उन्होंने कहा कि पंजाब सरकार ने बसेरा स्कीम के द्वारा पंजाब को झुग्गी -झोंपड़ी से मुक्त बनाने का अपना वायदा पूरा किया है, जिस के अंतर्गत एक लाख से अधिक झुग्गी -झोंपड़ी निवासियों को मालिकाना अधिकार दिए जाएंगे, जिस से उनकी ज़िंदगी बदल जायेगी।उन्होंने कहा कि जालंधर में 8 झुग्गी -झौंपड़ियों की पहचान की गई है, जिन में से पाँच नगर निगम जालंधर के अधिकार क्षेत्र में और तीन करतारपुर, आदमपुर और फिल्लौर नगर कौंसिलों के अधिकार क्षेत्रों में हैं।उन्होंने फील्ड में पहले से सर्वेक्षण टीमों को झुग्गियों के बारे में मोबाइल एप पर सही डेटा अपलोड करने के लिए कहा और यह प्रक्रिया 28 फरवरी तक ख़त्म हो जायेगी।कैबिनेट मंत्रियों ने बताया कि 4-जी तकनीक आधारित स्मार्ट मीटर न सिर्फ़ बिजली खपतकारों को पारदरशी मीटरिंग, बिलिंग और कुलैकशन प्रक्रिया को विश्वसनीय बनाऐंगे बल्कि बिजली चोरी को भी कम करेंगे। उन्होंने आगे बताया कि ई -दाखिल प्रोजेक्ट का उद्देश्य खपतकारों को और ज्यादा अधिकार देने के लिए एक आसान और सरल प्लेटफार्म उपलब्ध करवाना है, जहाँ वह खपतकार कमिशन के आनलाइन एप्लीकेशन पोर्टल पर शिकायत दर्ज करने के इलावा यहाँ रवीज़न पटीशन और पहली अपील भी दायर कर सकते हैं ।’धीआं दी लोहड़ी’ स्कीम की शुरूआत समय मंत्रियों ने आश प्रकट करते हुए कहा कि लोहड़ी जैसे रवायती त्योहारों को’बेटियाँ की लोहड़ी’ के रूप में मनाना राज्य में लिंग अनुपात को और बेहतर बनाने में महत्वपूर्ण सिद्ध होगा।उन्होंने कहा कि कन्या भ्रूण हत्या के ख़िलाफ़ लोगों में जागरूकता पैदा करना सब से ज़रूरी है, जिससे महिला सशक्तिकरण किया जा सकता है। मंत्रियों ने कहा कि 2500 स्पोर्टस किटों के वितरण की पहलकदमी से राज्य में खेल गतिविधियों को बढ़ावा मिलेगा। मंत्रियों ने कहा कि यह किटें ग्रामीण क्षेत्रों में खेल और अन्य सामाजिक गतिविधियों को उत्साहित करने में महत्वपूर्ण भूमिका अदा करेंगी।उन्होंने कहा कि राज्य सरकार यह सुनिश्चित करने में कोई कमी नहीं छोड्डेगी कि खेल के क्षेत्र में भी पंजाब प्रमुख राज्य बन कर उभरे। इस अवसर पर पंजाब राज्य जल स्रोत प्रबंधन विकास निगम के चेयरमैन जगबीर सिंह बराड़, अतिरिक्त डिप्टी कमिश्नर विशेष सारंगल और जसबीर सिंह, डी.सी.पी. ट्रैफ़िक नरेश डोगरा, एस.डी.एम डा. जय इन्द्र सिंह, सहायक कमिश्नर हरदीप सिंह, डी.एफ.एस.सी नरिन्दर सिंह और अन्य उपस्थित थे।

Crime News

Jalandhar News

नशा मुद्दा- भार्गव कैंप में इस युवक ने किस किस को डाला परेशानी में देखें, Share Video

बस्ती दानिशमंदा श्मशान घाट में तोड़ा पुराना शिव मंदिर विरोध दल बल के साथ पहुंची पुलिस ( Share VIdeo )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *