नई दिल्लीः फेसबुक के स्वामित्व वाले इंस्टैंट मैसेजिंग ऐप WhatsApp की नई प्राइवेसी पॉलिसी का जमकर विरोध हो रहा है। 8 फरवरी से कंपनी नई प्राइवेसी पॉलिसी लेकर आ रही है। वहीं विरोध बढ़ता देख कंपनी ने प्राइवेसी अपडेट करने का अपना प्लान तीन महीने के लिए टाल दिया है। कंपनी ने अपने बयान में कहा है कि नए पॉलिसी को स्थगित करने के पीछे अफवाहों का फैलना है। बयान में आगे कहा गया है कि किसी भी WhatsApp यूजर का अकांउट बंद नहीं होगा। पॉलिसी नहीं मानने वालों का 8 फरवरी के बाद भी अकाउंट चलता रहेगा।प्राप्त जानकारी के मुताबिक व्हाट्सएप पूरी दुनिया में चल रहे अफवाहों के खिलाफ अभियान चलाएगा। यूजर्स को नए प्राइवेसी पॉलिसी को रिव्यू करने के लिए पर्याप्त समय दिया जाएगा। बता दें कि लोगों की निजी जानकारी जबर्दस्ती लेने का नया फैसला व्हाट्सएप को भारी पड़ा है। सिर्फ आम यूजर्स ही नहीं बल्कि कई बड़ी कंपनियों के CEO भी इस मैसेजिंग प्लेटफॉर्म को छोड़कर दूसरी ऐप चुनने लगे हैं।गौरतलब है कि इससे पहले कहा गया था कि WhatsApp 8 फरवरी 2021 को अपनी टर्म्स ऑफ सर्विस को अपडेट करने जा रहा है। अगर व्हाट्सएप यूजर्स इससे एग्री नहीं होते हैं तो वे WhatsApp इस्तेमाल नहीं कर पाएंगे। नई पॉलिसी का मतलब है कि व्हाट्सएप के पास आपका जितना भी डेटा है, वह अब फेसबुक की दूसरी कंपनियों के साथ भी शेयर किया जाएगा। इस डेटा में लोकेशन की जानकारी, IP एड्रेस, टाइम जोन, फोन मॉडल, ऑपरेटिंग सिस्टम, बैटरी लेवल, सिग्नल स्ट्रेन्थ, ब्राउजर, मोबाइल नेटवर्क, ISP, भाषा, टाइम जोन और IMEI नंबर शामिल हैं। इतना ही नहीं, आप किस तरह मैसेज या कॉल करते हैं, किन ग्रुप्स में जुड़े हैं, आपका स्टेटस, प्रोफाइल फोटो और लास्ट सीन तक शेयर किया जाएगा। 

Crime News

Jalandhar News

नशा मुद्दा- भार्गव कैंप में इस युवक ने किस किस को डाला परेशानी में देखें, Share Video

बस्ती दानिशमंदा श्मशान घाट में तोड़ा पुराना शिव मंदिर विरोध दल बल के साथ पहुंची पुलिस ( Share VIdeo )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *