चंडीगढ़ः  शिरोमणि अकाली दल द्वारा केंद्र सरकार से नाता तोड़ लेने के कुछ महीनों के अंदर ही केंद्रीय जांच ब्यूरो (सी.बी.आई.) ने बेअदबी मामलों के साथ जुड़े दस्तावेज़ राज्य पुलिस के हवाले कर दिए हैं। इसकी जानकारी पंजाब के मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिंदर सिंह ने फेसबुक के जरिए दी। इसके साथ ही मुख्यमंत्री ने अकालियों को आड़े हाथों लिया। कैप्टन ने कहा कि केंद्र से अकाली दल के अलग होने के सिर्फ कुछ महीनों के बाद ही इस मामले के कागज हमें सौंपना यह साबित करता है कि हरसिमरत कौर बादल ने जांच में रुकावट डाली हुई थी। हमारी पुलिस इस घटना के दोषियों का पता लगाएगी और दोषियों को बख्शा नहीं जाएगा।इसके अलावा मुख्यमंत्री ने कहा कि हमारी सरकार आने से पहले कोटकपूरा में बेअदबी कांड हुआ था। उन्होंने कहा कि जब हमारी सरकार आई तो उस वक्त 6 जून 2018 में रणजीत सिंह कमिश्न बिठाया गया था और कमिश्न ने हमें अपनी रिपोर्ट सौंपी, जिसमें काफी कुछ स्पष्ट हो गया था। उसके बाद पंजाब विधानसभा में रेजुलेशन किया गया कि यह कागज वापिस किए जाएं लेकिन बार-बार केंद्र सरकार टालती रही। कैप्टन ने कहा कि उस समय केंद्र में बैठी हरसिमरत बादल भी चाहती थी कि यह कागज वापिस ना किए जाएं। उन्होंने कहा कि जिन्होंने भी यह बेअदबी कांड किया है, उनको कभी भी बख्शा नहीं जाएगा।

Crime News

Jalandhar News

नशा मुद्दा- भार्गव कैंप में इस युवक ने किस किस को डाला परेशानी में देखें, Share Video

बस्ती दानिशमंदा श्मशान घाट में तोड़ा पुराना शिव मंदिर विरोध दल बल के साथ पहुंची पुलिस ( Share VIdeo )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *