शिमला : हिमाचल प्रदेश के शिमला स्थित इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल के 3 डॉक्टर कोरोना वैक्सीन की पहली डोज लगने के बाद पॉजिटिव पाए गए हैं। दस दिन बाद इनमें कोरोना के लक्षण दिखे, जिसके बाद तीनों का कोरोना टेस्ट करवाया गया। तीनों डॉक्टरों की रिपोर्ट पॉजिटिव आने पर इन्हें ऐहतियातन होम आइसोलेट कर दिया गया है, हालांकि अभी तक इन्हें वैक्सीन की दूसरी डोज नहीं लगाई गई है। इंदिरा गांधी मेडिकल कॉलेज एंड हॉस्पिटल के प्रिंसिपल डॉ. रजनीश पठानियां ने इस बात की पुष्टि की। डॉ. रजनीश पठानियां ने कहा कि हम वैक्सीन को संक्रमण से नहीं जोड़ सकते हैं। खुराक मिलने से पहले उन्हें संक्रमण हो सकता है। उन्होंने कहा कि दवा लगाने के बाद 3 से 4 महीने बाद एंटी बॉडी बनती है। वैक्सीन के असर या बेअसर होने का इससे कोई संबंध नहीं है।बताया गया है कि वैक्सीन की पहली खुराक मिलने के बाद से डॉक्टर नियमित रूप से अपनी ड्यूटी कर रहे थे। माना जा रहा है कि इलाज के दौरान वे कोरोना संक्रमित हो गए। डॉ. पठानिया ने बताया कि उनके संपर्क में आने वाले मरीजों की कोई जानकारी नहीं है।

Crime News

Jalandhar News

नशा मुद्दा- भार्गव कैंप में इस युवक ने किस किस को डाला परेशानी में देखें, Share Video

बस्ती दानिशमंदा श्मशान घाट में तोड़ा पुराना शिव मंदिर विरोध दल बल के साथ पहुंची पुलिस ( Share VIdeo )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *