नई दिल्ली : दिल्ली सिख गुरूद्वारा प्रबंधक कमेटी के अध्यक्ष स. मनजिंदर सिंह सिरसा व महासचिव हरमीत सिंह कालका ने आज तिहाड़ जेल से रिहा हुए नौजवान रणजीत सिंह को साथ लेकर श्री दरबार साहिब नतमस्तक हुए और अकाल पुरख का शुक्रिया अदा किया। इस मौके पर रणजीत सिंह के परिवार द्वारा स. सिरसा व स. कालका का सम्मान किया गया। शिरोमणि कमेटी द्वारा रणजीत सिंह के परिवार का सम्मान किया गया एवं स. सिरसा व स. कालका को सम्मानित भी किया गया।इस मौके पर बातचीत करते हुए स. सिरसा व स. कालका ने कहा कि पुलिस द्वारा रणजीत सिंह के खिलाफ 307 से लेकर हर संगीन धारा लगाई गई पर अकाल पुरख की बख्शीश और रहमत के कारण रणजीत सिंह केवल 45 दिनों में जेल से बाहर आ गया है। गुरू साहिब ने स्वंय कृपा करते हुए उसकी रिहाई करवाई है। उन्होंने कहा कि जिन पुलिस मुलाज़िमों ने किसान आंदोलन के दौरान गिरफ्तार किए गए नौजवानों पर जुल्म ढहाया है उनके खिलाफ कार्रवाई सुनिश्चित बनाएंगे और उन्हें नौकरियों से बर्खास्त करवाएंगे तथा इन्हीं जेलों में भेजेंगे जिसमें नौजवानों को रखा गया था। उन्होंने कहा कि पूरे देश को यह संदेश देंगे कि खालसा अपने साथ हुई कोई बात नहीं भूलता।पत्रकारों के सवाल के जवाब में स. सिरसा ने कहा कि किसान आंदोलन से सरकार पूरी तरह हिल गई है। देश के गर्वनर स्वंय सरकार को खालसे के इतिहास के बारे में बता रहे हैं और उसे सबक लेने के लिए कह रहे हैं। उन्होंने कहा कि किसानों की ताकत के आगे झुकते हुए ही सरकार बातचीत के लिए तैयार हुई थी और सरकार द्वारा दो वर्षों के लिए कानून को रद्द करने के लिए मानना भी बहुत बड़ी जीत है।उन्होंने कहा कि आज गुरू के तख्त की जीत हुई है और दिल्ली के तख्त की हार। सरकार जितनी भी तुच्छ हरकतें कर ले पर कभी सफल नहीं होगी। इस दौरान दिल्ली सिख गुरूद्वारा कमेटी की लीगल सेल के चेयरमैन जगदीप सिंह काहलों, सरवजीत सिंह विरक, गगन सिंह छियासी व सुखमिंदर सिंह राजपाल भी मौजूद थे।

Jalandhar News

नशा मुद्दा- भार्गव कैंप में इस युवक ने किस किस को डाला परेशानी में देखें, Share Video

बस्ती दानिशमंदा श्मशान घाट में तोड़ा पुराना शिव मंदिर विरोध दल बल के साथ पहुंची पुलिस ( Share VIdeo )

Happy Birthday To Sandeep Kashyap

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *