चंडीगढ़ : पंजाब में कोरोना के बढ़ते पाजिटिव मामले तथा मृत्यु दर में वृद्धि को देखते हुए मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने बुधवार को स्वास्थ्य विभाग को टीकाकरण मुहिम तेज करते हुए प्रतिदिन दो लाख मरीज़ों का टीकाकरण किए जाने के आदेश दिए। पंजाब में कोविड पॉजि़टिविटी और मामलों में मृत्यु दर बीते हफ्ते क्रमश: 7.7 और 2 प्रतिशत तक पहुँच जाने के मद्देनजऱ मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह ने बुधवार को स्वास्थ्य विभाग को टीकाकरण मुहिम में वृद्धि करते हुए प्रतिदिन 2 लाख मरीज़ों का टीकाकरण किए जाने के हुक्म दिए। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों को भी हिदायतें दीं कि हरेक पॉजि़टिव मरीज़ के पीछे 30 व्यक्तियों की हद तक कॉन्टैक्ट ट्रेसिंग की जाए और सैंपलिंग की संख्या प्रतिदिन 50,000 तक बढ़ाई जाए।कोविड मामलों में मृत्यु दर बढऩे पर चिंता ज़ाहिर करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा इन मौतों के कारण उनको बहुत दुख पहुंचा है और इनमें से कई मौतें तो वक्त रहते इलाज से टाली जा सकती थीं। उन्होंने मुख्य सचिव विनी महाजन को निर्देश दिए कि एक व्यापक जन चेतना मुहिम चलाई जाए और लोगों को शुरुआती दौर में ही अस्पतालों में जाँच के लिए जाने हेतु प्रेरित किया जाए। उन्होंने आगे कहा कि अस्पतालों में स्वास्थ्य सम्बन्धी सुविधाओं की गुणवत्ता में सुधार किए जाने की भी ज़रूरत है और ज़रूरी सुविधाओं वाले मंज़ूरशुदा अस्पतालों की सूची भी सार्वजनिक कर दी जानी चाहिए। मुख्यमंत्री ने आगे कहा कि हुई मौतों का ऑडिट सब जि़लों की तरफ से किया जाना चाहिए और जिन निजी संस्थानों द्वारा माहिरों के साथ सामूहिक विचार-विमर्श में हिस्सा नहीं लिया गया उनको ऐसा करने के लिए प्रोत्साहन दिया जाना चाहिए। स्वास्थ्य विभाग द्वारा मुख्यमंत्री को सूचित किया गया था कि पी.जी.आई. द्वारा पंजाब के मरीज़ों को सही माध्यम के द्वारा रैफर किए जाने के बावजूद भी दाखि़ल करने से इन्कार किया जा रहा है, इस पर कार्यवाही करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि वह कल की वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग मीटिंग में प्रधानमंत्री के पास यह मामला उठाएंगे और उनको विनती करेंगे कि वह पी.जी.आई. को राज्य सरकार द्वारा रैफर किए गए मरीज़ों के लिए कम-से-कम 50 आई.सी.यू. बैड आरक्षित रखने के लिए निर्देश दें। स्वास्थ्य विभाग के अधिकारियों और मैडीकल माहिरों के साथ साप्ताहिक कोविड समीक्षा मीटिंग की अध्यक्षता करते हुए मुख्यमंत्री ने कहा कि मौजूदा टीकाकरण मुहिम के अंतर्गत रोज़ाना लगभग 90,000 लोगों को टीके लगाए जा रहे हैं, परन्तु इसको रोज़ाना के 2 लाख लोगों तक पहुँचाने की ज़रूरत है। उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को निर्देश दिए कि इस मुहिम को और तेज़ करने के लिए तुरंत कदम उठाए जाएँ, क्योंकि टीकाकरण कोरोना के फैलाव को रोकने का एकमात्र ज़रिया है।

Jalandhar News

नशा मुद्दा- भार्गव कैंप में इस युवक ने किस किस को डाला परेशानी में देखें, Share Video

बस्ती दानिशमंदा श्मशान घाट में तोड़ा पुराना शिव मंदिर विरोध दल बल के साथ पहुंची पुलिस ( Share VIdeo )

Happy Birthday To Sandeep Kashyap

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *