जालंधर(विनोद बिंटा) महानगर में लॉकडाउन का सबसे ज्यादा फायदा शराब तस्करों ने उठाया है पिछले साल लगे लॉकडाउन के दौरान शराब तस्करों ने महंगी गाड़ियां और करोड़ों रुपए की प्रोप्टी बना ली इस अवैध धंधे में उन्होंने इतना कुछ कमाया अब फिर लॉकडाउन लगा हुआ है जिसका फायदा बड़े मगरमच्छ महंगी व्हिस्की बेचने का धंधा जोरों पर कर रहे हैं भार्गव कैंप के रहने वाले पेशोरिया नाम से मशहूर जिसका चर्चा इलाके में हर वक्त बना रहता है सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार उसका धंधा आजकल जोरों पर चल रहा है और उसका काम करने का स्टाइल कुछ ऐसा है उसने 30000 रुपए वेतन पर कारिंदे पाल रखे जो इसका धंधा बढ़ा रहे हैं महंगी गाड़ियां बीएमडब्ल्यू और कई ऐसी गाड़ियां में अवैध शराब की सप्लाई की जाती है काम करने का स्टाइल कुछ ऐसा है ऑर्डर किसी को दिया जाता है शराब की डिलीवरी महंगी गाड़ी में किसी और के हाथ भेजी जाती है और शराब की पेमेंट किसी और के हाथ आती है इस तरह चल रहा है पेशोरिया का धंधा राजनीतिक संरक्षण प्राप्त होने के कारण पुलिस की कुछ काली भेड़े भी उनके साथ मिली हुई है जिस कारण इसका धंधा बल फूल हो रहा है अवैध शराब के कारण सरकार को लाखों रुपए का चूना लग रहा है लेकिन फिर भी इस शराब माफिया के खिलाफ पुलिस की ओर से कार्रवाई नहीं की जा रही है सूत्रों से मिली जानकारी के अनुसार भार्गव कैंप एक ऐसी बेकरी है जिसमें हर तरह का महंगी ब्रांड अवैध शराब आसानी से मिल सकता है इलाके में उसके धंधे की इतनी चर्चा है इसके बावजूद भी पुलिस आंखें मूंदे बैठी हुई है

Crime News

Jalandhar News

नशा मुद्दा- भार्गव कैंप में इस युवक ने किस किस को डाला परेशानी में देखें, Share Video

बस्ती दानिशमंदा श्मशान घाट में तोड़ा पुराना शिव मंदिर विरोध दल बल के साथ पहुंची पुलिस ( Share VIdeo )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *