जालंधर- सांसद मैंबर चौधरी संतोख सिंह, विधायक रजिन्दर बेरी, विधायक सुरिन्दर चौधरी, डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी और एस.एस.पी. नवीन सिंगला की तरफ से शुक्रवार को एडवोकेट और लेखक हरप्रीत संधू द्वारा संकलित श्री गुरु तेग़ बहादुर साहब जी की आध्यात्मिक यात्रा को दर्शाने वाली काफ़ी टेबल बुक् का अंक लांच किया। श्री गुरु तेग़ बहादुर जी के 400 साल प्रकाश पर्व को समर्पित यह किताब पंजाब प्रदूशष कंट्रोल बोर्ड के चेयरमैन प्रोफ़ैसर एस. एस. मरवाहा के सहयोग से तैयार की गई है। मैंबर पार्लियामेंट ने काफ़ी टेबल बुक् को महत्वपूर्ण बताते हुए कहा कि इस काफ़ी टेबल बुक् में श्री गुरु तेग़ बहादुर साहिब के जन्म से ले कर शहादत तक की उनकी पवित्र यात्रा को गुरुद्वारा गुरू का महल (अमृतसर), गुरुद्वारा विवाह स्थान (करतारपुर, ज़िला जालंधर) गुरुद्वारा भोरा साहिब (बाबा बकाला) से गुरुद्वारा तख़्त श्री केसगढ़ साहब (श्री आनन्दपुर साहब) की रंगीन तस्वीर के माध्यम के द्वारा दिखाया गया है। संसद मैंबर ने आगे कहा कि हम भाग्यशाली है कि हरप्रीत संधू की तरफ से फोटोग्राफी और दस्तावेज़ी प्रोगरामों के लिए अपने जुनून के द्वारा समाज को हमारे महान गुरू जी के नक्श -ए -कदमों पर चलने के लिए प्रेरित किया जा रहा है। उन्होनें एडवोकेट हरप्रीत संधू, जो इस काफ़ी टेबल बुक् के लेखक हैं, के प्रयत्नों की प्रशंसा की। उन्होनें आगे कहा कि श्री गुरू तेग़ बहादुर साहब जी की शिक्षाएं और दर्शन आज के समय में भी सार्थक है।चौधरी ने श्री गुरु तेग़ बहादुर साहब जी के 400 साला प्रकाश पर्व की सभी को मुबारकबाद देते हुए कहा कि हम सभी को श्री गुरु तेग़ बहादुर साहब जी की शिक्षाओं और उपदेशों को अपने जीवन में अपनाने का प्रण करना चाहिए, जिन्होनें निर स्वार्थ हो कर समाज की सेवा की और शांति और विश्व भाईचारे का संदेश दिया।इस दौरान डिप्टी कमिश्नर घनश्याम थोरी ने काफ़ी टेबल बुक को देखते हुए कहा कि इस किताब में श्री गुरु तेग़ बहादुर जी की चरण छू प्राप्त पवित्र स्थानों के दृश्यों के द्वारा ख़ूबसूरती से दिखाया गया है। उन्होनें कहा हमारी आने वाली पीढ़ीयें को अपनी, जड़ों के साथ जोड़ने के लिए ऐसीं कोशिशें करना समय की ज़रूरत हैं।इस अवसर पर एडवोकेट हरप्रीत संधू ने धन्यवाद करते हुए कहा कि श्री गुरु तेग़ बहादुर साहब जी की जीवन यात्रा से सम्बन्धित गुरुद्वारों, जहाँ नौवें सिख गुरू जी ने अपने चरण रखे थे और उनकी ऐतिहासिक महत्ता को पेश करने के एकमात्र उद्देश्य से उनकी तरफ से पद्म श्री सुरजीत पात्र के मार्ग दर्शन में यह किताब लिखी गई है। इस अवसर पर दूसरो के इलावा सहायक कमिश्नर हरदीप सिंह, कांग्रेस प्रवक्ता जैवीर शेरगिल्ल, यूथ कांग्रेस के नेता अंगद दत्ता और पीपीसीबी के अधिकारी मौजूद थे।

Crime News

Jalandhar News

नशा मुद्दा- भार्गव कैंप में इस युवक ने किस किस को डाला परेशानी में देखें, Share Video

बस्ती दानिशमंदा श्मशान घाट में तोड़ा पुराना शिव मंदिर विरोध दल बल के साथ पहुंची पुलिस ( Share VIdeo )

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *