नई दिल्ली: केंद्र के साथ अगले दौर की बातचीत से पहले किसान संगठनों ने अपने तेवर सख्त कर लिए हैं। उन्होंने चेतावनी भरे लहजे में कहा कि अगर सरकार चार जनवरी की बैठक में तीन नए कृषि कानूनों को रद्द करने और न्यूनतम समर्थन मूल्य को कानूनी गारंटी देने की उनकी मुख्य मांगों को हल करने में नाकाम रहती है तो  एक्सप्रेस-वे पर  ट्रैक्टर मार्च निकालेंगे। संयुक्त किसान मोर्चा की प्रेस कॉन्फ्रेंस में किसान नेता बलवीर सिंह रजवाल ने कहा कि  अगर 4 जनवरी को बातचीत सफल नहीं होती, कोर्ट की सुनवाई का भी नतीजा नहीं निकलता तो 6 जनवरी को सिंघु बोर्डर से  ट्रैक्टर मार्च नकाली जाएगी। उन्होंने कहा कि ये  ट्रैक्टर मार्च, 26 जनवरी की रिहर्सल परेड होगी। किसान नेता ने कहा कि जब तक सरकार कानून वापस नहीं लेती हम बैठे रहेंगे। उन्होंने कहा कि हम अब तक शांतिपूर्ण प्रदर्शन करते रहे हैं, आगे भी ऐसे ही बैठे रहेंगे। 

Latest News

जालंधर में कोरोना से राहत, आज इतने आए कोरोना पॉजीटिव मरीज..

जालंधर- जिला जालंधर में शुक्रवार को जिले में कोरोना से 8 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। स्वास्थ्य विभाग को अलग-अलग सरकारी एवं निजी लैबोरेट्रीज...

बूट्टा मंडी बिजली दफ्तर में एक्स इन और एसडीओ के बीच कहासुनी के बाद चली कुर्सियां, एसडीओ घायल..

जालंधर(विनोद बिंटा)-बूट्टा मंडी बिजली दफ्तर में एक्स इन और एसडीओ के बीच कहासुनी के बाद मामला बढ़ गया। जिसके बाद दफ्तर में पड़ी कुर्सियां एक दूसरे पर चलाई। जिस...

जेडीए के बाद अब अवैध कालोनियों और कमर्शियल बिल्डिंगो पर चला निगम का डंडा…

जालंधर(विनोद बिंटा)-जेडीए के बाद अब नगर निगम ने अवैध कालोनियों और कमर्शियल बिल्डिंगो पर डंडा चलाते हुए कई जगह कार्रवाही की है। एमटीपी मेहरबान सिंह...

काला सिंधिया रोड नई बनाई गई सड़क मैं खंडों के कारण कई लोग घायल

वार्ड नंबर 43 में सीवरेज जाम समस्या 3 महीनों से बरकरार, जनता परेशान

Happy Birthday To Sahiba,Mehar

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *